Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

कनाडा से दिल्ली लाया गया निरंकारी बाबा का पार्थिव शरीर

 Tahlka News |  2016-05-16 05:36:07.0

2016_5image_09_58_495534000nirankaribabahardevsingh-ll


तहलका न्‍यूज ब्‍यूरो
नई दिल्ली: 
संत निरंकारी मिशन के प्रमुख बाबा हरदेव सिंह का पार्थिव शरीर दिल्ली एयरपोर्ट लाया गया है। एयरपोर्ट  पर कागजी कार्रवाई पूरी की जा रही है। उसके बाद उनके पार्थिव शरीर को अंतिम दर्शन के लिए बुराड़ी रोड स्थित ग्राउंड नंबर 8 में दोपहर को रखा जाएगा जो कि मंगलवार रात यही रखा जाएगा। निरंकारी बाबा हरदेव सिंह का अंतिम संस्कार बुधवार को निगम बोध घाट पर किया जाएगा।


इसे भी पढ़े: बाबा हरदेव सिंह का अंतिम संस्कार 18 मई को दिल्ली में


Cijfz2cVAAAvzSB


निरंकारी बाबा के अंतिम दर्शन व अंतिम यात्रा में लाखों लोगों के जुटने की उम्मीद है, जिसे लेकर प्रशासनिक स्तर पर तैयारियां शुरू कर दी गई हैं। निरंकारी संत मंडल के अनुसार निरंकारी बाबा हरदेव सिंह महाराज की अंतिम यात्रा बुधवार सुबह आठ बजे बुराड़ी रोड स्थित ग्राउंड नंबर-आठ से शुरू होगी और निगम बोध घाट पर संपन्न होगी।


इसे भी पढ़े: बाबा हरदेव सिंह कार एक्सीडेंट का VIDEO VIRAL


baba-hardev-singh-dead-body-first-pics_1463322947


इसे भी पढ़ेधन निरंकार बाबा हरदेव सिंह जी के 10 विचार


दोपहर 12 बजे निगम बोध घाट स्थित सीएनजी शवदाह गृह में उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। मंडल के मुताबिक बुधवार को ही बाबा को श्रद्धांजलि देने का कार्यक्रम होगा। बुराड़ी रोड स्थित ग्राउंड नंबर दो निरंकारी सरोवर के सामने दोपहर बाद तीन बजे से शाम सात बजे तक श्रद्धांजलि दी जाएगी।


बता दें कि बाबा हरदेव का शुक्रवार को कनाडा के मांट्रियल में एक सड़क हादसे में निधन हो गया था। निरंकारी मिशन के लाखों अनुयायियों में बाबा के निधन से शोक की लहर है। बाबा के अंतिम दर्शनों के लिए भारी संख्या में अनुयायी दिल्ली पहुंच रहे हैं।


निरंकारी समुदाय की उत्पत्ति पंजाब के उत्तर-पश्चिम में बसे रावलपिंडी से हुई जो अब पाकिस्तान का हिस्सा है। इस समुदाय की स्थापना सहजधारी सिख बाबा दयाल सिंह और एक स्वर्ण व्यापारी ने की थी। ब्रिटिश राज में हालांकि इस समुदाय को दरकिनार कर दिया गया। बाद में 1929 में संत निरंकारी मिशन की स्थापना हुई. वर्तमान में इस समुदाय के करोड़ों अनुयायी भारत से लेकर विदेशों में फैले हैं।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top