Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

संत निरंकारी संप्रदाय के धार्मिक गुरु बाबा हरदेव सिंह का रोड एक्सीडेंट में निधन

 Tahlka News |  2016-05-13 08:44:54.0

ffff_1_1463127775

मॉन्ट्रियल:  निरंकारी संप्रदाय के धार्मिक गुरु बाबा हरदेव सिंह का यहां कार एक्सीडेंट में निधन हो गया। वे 62 साल के थे।

जानकारी के अनुसार,  कनाडा के मोंट्रियल शहर में गाड़ी का टायर फटने से यह घटना हुई।

निरंकारी संप्रदाय के मीडिया इनचार्ज गुलशन राय ठकुराल ने बताया कि बाबा और उनके दो दामाद न्यूयार्क से कनाडा के मॉन्टियल जा रहे थे। उसी दौरान तेज रफ्तार के कारण कार पलट गई। हादसे के वक्त कार की रफ्तार 200 से 300 किमी थी।

हादसे में हरदेव सिंह के अलावा उनके दामाद अवनीत की भी मौत हुई है। दूसरे दामाद सन्नी भी जख्मी लेकिन खतरे से बाहर। सन्नी ही चला रहे थे कार। बाबा की फैमिली इस वक्त कनाडा में ही है।

न्यूयार्क से मॉन्टियल की दूरी महज 2 घंटे की है इसलिए रोड से वहां जा रहे थे बाबा


दुनिया के सताइस देशों में निरंकारी समाज के लोग है। घटना के बाद निरंकारी समाज में शोक की लहर फैल गई है। हाल ही में बाबा हरदेव सिंह ही कनडा गए थे। हादसे के वक्त उनके दो दामाद उनके साथ थे जिनमें एक की हालत गंभीर बनी हुई है।

निरंकारी समाज की स्थान 1929 में हुई थी दुनिया भर में उनकी सौ शाखाएं है। बाबा हरदेव सिंह जी 1980 में निरंकारी समाज के प्रमुख बने थे। वे निरंकारी संप्रदाय के प्रमुख थे।

बाबा हरदेव सिंह का जन्म 23 फरवरी, 1954 दिल्ली में हुआ था। उनकी शुरुआती शिक्षा घर पर ही हुई। बाद में उन्होंने दिल्ली के संत निरंकारी कॉलोनी में रोसरी स्कूल और फिर पटियाला के एक बोर्डिंग स्कूल से पढ़ाई की।

उन्होंने 1971 में निरंकारी सेवा दल ज्वॉइन किया।  1975 में उन्होंने फर्रुखाबाद की सविंदर कौर से शादी की थी। सविंदर दिल्ली में निरंकारी संत समागम की मेंबर थीं। पिता की हत्या के बाद 1980 में वे संत निरंकारी मिशन के चीफ बन गए।

बताते चले  कि 1929 में संत निरंकारी मिशन की स्थापना हुई थी।

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top