Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

प्रतापगढ़: DM के आदेश के बावजूद कोटेदार के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं

 Abhishek Tripathi |  2017-01-02 14:19:36.0

a1तहलका न्यूज़ ब्यूरो
प्रतापगढ़. शीतलमउ ग्रामसभा में स्थित लालगंज अझारा तहसील में जनता को मिलने वाले राशन के प्रकरण में अधिकारियों की उदासीनता से दीपक तले अँधेरा ही दिखाई दे रहा है. डीएम से कोटेदार के खिलाफ चार महीने पहले ग्रामीणों की शिकायत की जांच कछुआ की चाल चल रही है. नायब तहसीलदार से आम जनता ने कोटेदार द्वारा राशन न देने और बदसलूकी करने की शिकायत जाँच में की है. इस बाबत tahlkanews.com ने प्रकाशित खबर और जांच के प्रकरण में नायाब तहसीलदार से रविवार की शाम उनके मोबाइल पर बातचीत की तो नायब ने बताया कि जनता की शिकायत सही पाई गयी है. लेकिन अभी कोटेदार का बयान नहीं हो पाया है. वहीँ, कोटेदार के बयान के बाद जांच रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को भेजी जायेगी. जिस पर कार्यवाही होगी.


दो साल से कोटेदार बीमार पर कोटा कायम
शीतलमउ ग्रामसभा का कोटेदार रामेश्वर प्रसाद जायसवाल (75 वर्ष) दो साल से बीमार हैं. इसके बावजूद उनका कोटा कायम है. कोटे का संचालन रामेश्वर का बेटा विनय जायसवाल करता है. वो एक मोटरसाइकिल एजेन्सी का संचालक भी है.


ग्रामीणों के मुताबिक़ विनय का रवैया जनता के प्रति ठीक नहीं है. इसी के चलते जिलाधिकारी से कोटेदार की शिकायत की गयी है. अब ऐसे में नायब का ये कहना कि कोटेदार के बयान के बाद रिपोर्ट भेजी जाएगी, एक शिथिल कार्यवाही की तरफ इशारा है.


a2
जनता की शिकायत का हर हाल में हो निपटारा: साधू सिंह

शीतलमउ ग्रामसभा के प्रधान प्रतिनिधि के तौर पर कार्य कर रहे अंजनी सिंह उर्फ़ साधू सिंह ने तहलका न्यूज़ से बातचीत में बताया कि जनता की शिकायत जायज है. चार माह पूर्व ग्रामीणों ने कोटेदार के खिलाफ डीएम को शिकायती पत्र दिया था. जिसकी जांच नायब तहसीलदार को मिली है और अभी तक ठन्डे बस्ते में ही दिखाई दे रही है. बहरहाल जनता में आक्रोश है. ऐसे में जांच कर रहे अधिकारी कोटेदार के खिलाफ कार्यवाही करें अन्यथा जनता सड़क पर उतरकार संघर्ष करेगी.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top