Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

नारों में देशप्रेम मत तलाशिये

 Sabahat Vijeta |  2016-04-01 13:11:07.0

indian flagतहलका न्यूज़ ब्यूरो


लखनऊ, 1 अप्रैल. दारुल उलूम देवबन्द से आये फ़तवे के बाद भारत माता की जय का मुद्दा आज फिर गर्म हो गया. शिवसेना ने इस मुद्दे पर यहाँ तक कह दिया कि हिन्दुस्तान में रहने वाले हर व्यक्ति को भारत माता की जय बोलना ही होगा.


बाबरी मस्जिद एक्शन कमेटी के संयोजक ज़फरयाब जीलानी ने इस मुद्दे पर कहा कि कोई भी फ़तवा तब आता है जब उस मुद्दे पर कोई सवाल पूछा जाता है. किसी ने पूछा होगा कि मुसलमानों को भारत माता की जय बोलना चाहिए या नहीं. बस देवबंद से उसी सवाल का जवाब आ गया है. उन्होंने कहा कि हो सकता है कि यह सवाल किसी साधू ने ही पूछा हो. ज़फ़रयाब जीलानी ने कहा कि जब संघ प्रमुख मोहन भागवत ने लखनऊ ने यह बात कह दी है कि जिसका दिल चाहे वह भारत माता की जय बोले और जिसका दिल न चाहे वह न बोले. यह मुद्दा वहीं पर खत्म हो जाना चाहिए था.


जमायते इस्लामी हिन्द के सलीम इंजीनियर का इस मुद्दे पर कहना है कि एक नारा बोलने या न बोलने से किसी का देशप्रेम तय नहीं किया जा सकता. भारतीय जनता पार्टी के नेता शाहनवाज़ हुसैन ने कहा कि कोई हिन्दुस्तान की जय बोलता है कोई उसे जिन्दाबाद कहता है. इससे फर्क भी क्या पड़ता है. शाहनवाज़ हुसैन ने कहा कि नारा मैं भी लगाता हूँ लेकिन यह नारा सम्मान के लिए लगाया जाता है इबादत के लिए नहीं. उनका कहना है कि इस तरह के विषयों पर विवाद नहीं खड़ा करना चाहिए. कोई इंडिया बोलता है, कोई भारत बोलता है और कोई हिन्दुस्तान बोलता है. अब कल इस बात की बहस शुरू हो जाय कि बस यही बोलना है. यह कौन सी ज़बरदस्ती है.


मुस्लिम धर्मगुरु इमाम उमर ने साफ़ तौर पर कहा कि अगर कोई इबादत की नीयत से नारा लगा रहा है तो गलत है लेकिन अगर कोई सिर्फ मादरे वतन के सम्मान में नारा लगा रहा है तो कोई दिक्क़त की बात नहीं है. उनका कहना है कि हम तो हर नमाज़ के बाद मुल्क की खुशहाली की दुआ कराते हैं. हम तो बार-बार हिन्दुस्तान जिंदाबाद बोलते हैं. फिर किस बात की जिद की जा रही है.


तमाम मुसलमानों का कहना है कि हम अपने वतन की इज्ज़त करते हैं. हिन्दुस्तान जिन्दाबाद बोलते हैं. लेकिन अगर भारत माता की मूर्ति बनाकर उसकी पूजा करने को कहा जाएगा तो वह हम नहीं करेंगे.

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top