Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

अब सिर्फ अपने मज़हब का त्यौहार सेलीब्रेट करेगा मध्य प्रदेश

 Sabahat Vijeta |  2016-08-27 10:50:53.0

shivraj chauhan


तहलका न्यूज़ ब्यूरो


लखनऊ.मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार ने सरकारी छुट्टियों में कमी करने के लिए उसका धर्म के आधार पर बंटवारा कर दिया है. इस व्यवस्था के लागू होने के बाद एक धर्म का व्यक्ति दूसरे धर्म के त्यौहार को सेलिब्रेट नहीं कर पायेगा.


देश के इतिहास में ऐसा पहली बार होने जा रहा है कि ईद, बकरीद और मुहर्रम में सिर्फ मुसलमानों को छुट्टी मिलेगी और हिन्दुओं को दफ्तर में बैठकर काम करना पड़ेगा और होली, दीवाली में हिन्दुओं को छुट्टी मिलेगी और मुसलमानों को दफ्तर में बैठना पड़ेगा.


मध्य प्रदेश सरकार ने सरकारी छुट्टियों में कटौती का फैसला ऐसे हालात में लिया है कि इस राज्य में सबसे कम सरकारी छुट्टियाँ होती हैं. यूपी में त्योहारों पर देश में सबसे ज्यादा 38 छुट्टियाँ होती हैं. छुट्टी के मामले में राजस्थान 28 छुट्टियों के साथ दूसरे नंबर पर है. बिहार में 21, केरल में 18 और मध्य प्रदेश में 17 छुट्टियाँ होती हैं. नया फरमान लागू होते ही छुट्टियाँ और भी कम हो जायेंगी.


त्यौहार लोगों को करीब लाने के लिए हैं. होली और ईद तो ऐसे त्यौहार हैं जिसमें बगैर बुलाये एक दूसरे के घर जाकर बधाई देने की परम्परा है. जब होली पर मुसलमान छुट्टी ही नहीं पायेगा तो वह होली की बधाई देने कैसे किसी के घर जा पायेगा. इसी तरह से ईद पर जब हिन्दू दफ्तर में बैठेगा तो किसी से ईद मिलने कैसे जाएगा.


शिवराज सरकार ने पता नहीं होली पर उन मुसलमानों के लिए क्या व्यवस्था की है जो रंग चलने के दौरान अपने दफ्तर बगैर रंग पड़े पहुँच जाएँ. मज़हब के नाम पर लोगों में दूरियां बढ़ाने का यह पहला सरकारी प्रयास है जो मध्य प्रदेश में अमली जामा पहनने जा रहा है.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top