Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

हमारी भाषाएं, बोलियां एवं संस्कृतियां अनेकता में एकता का उदाहरण

 Sabahat Vijeta |  2016-05-08 17:41:23.0


  • मुख्यमंत्री ने सैफई, इटावा में 14वें ‘अन्तर्राष्ट्रीय भाषा एवं संस्कृति महोत्सव’ का शुभारम्भ किया

  • महोत्सव में 20 विभिन्न देशों के लगभग 120 विद्यार्थियों ने शिरकत की


saifaiलखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज सैफई, इटावा के इण्डोर स्पोर्ट्स स्टेडियम में आयोजित 14वें ‘अन्तर्राष्ट्रीय भाषा एवं संस्कृति महोत्सव’ का शुभारम्भ किया। इस अवसर पर महोत्सव में शिरकत करने आए 20 विभिन्न देशों के लगभग 120 विद्यार्थियों का स्वागत करते हुए कहा कि ये बच्चे उत्तर प्रदेश की भाषा व संस्कृति से रूबरू होंगे और उन्हें यहां की जानकारी होगी। उन्होंने कहा कि हमारे देश व प्रदेश में अनेक भाषाएं, बोलियां एवं संस्कृतियां हैं, जो अनेकता में एकता का उदाहरण प्रस्तुत करती हैं।


श्री यादव ने कहा कि ऐसे कार्यक्रमों का आयोजन एक सराहनीय पहल है और ये कार्यक्रम ‘वसुधैव कुटुम्बकम’ की भावना को सच्चे अर्थाें में प्रदर्शित करते हैं। इनसे सांस्कृतिक और भाषायी एकता मजबूत होती है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश विश्व के कई देशों से आबादी और क्षेत्रफल के हिसाब से बड़ा है और यहां पर थोड़ी-थोड़ी दूर पर भाषा व बोली बदल जाती है।


मुख्यमंत्री ने कहा कि विभिन्न देशों और स्थानों से आए तमाम धर्माें और संस्कृतियों के मानने वाले लोगों ने उत्तर प्रदेश में आकर यहां की संस्कृति को समृद्ध किया है। उन्होंने कहा कि विभिन्न भाषाएं, संस्कृतियां और सभ्यताएं हमें एक-दूसरे से जोड़ती हैं।


मुख्यमंत्री ने उ.प्र. ग्रामीण आयुर्विज्ञान एवं अनुसंधान संस्थान, सैफई को विश्वविद्यालय बनाए जाने पर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि यह नेताजी मुलायम सिंह यादव जी का सपना था कि इस संस्थान को विश्वविद्यालय का दर्जा मिले और न सिर्फ देश में ही बल्कि पूरी दुनिया में इसका नाम हो।


इस अवसर पर मंत्रिगण, सांसद, विधायक एवं अन्य जनप्रतिनिधिगण, अधिकारीगण, भारी संख्या में बच्चे व गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top