Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

बेटे-बहू ने की प्रताड़ना से तंग माँ ने लगाई यमुना में छलांग

 Sabahat Vijeta |  2016-08-23 16:17:00.0

jawahar bridge


दिलीप सुराना
आगरा. आगरा में एक बूढी मां को उनके बेटे और बहू ने चार दिन तक खाना नहीं दिया. उन्हें घर प्प्र प्रताड़ित किया जाता था. तंग आकर माँ ने यमुना में छलांग लगा दी. वहां गोताखोर बैठे थे. उन्होंने बुजुर्ग मां की जान बचा ली. मगर, वह अपने घर जाने लिए तैयार नहीं हुई. वह बिखलते हुए कह रही थी कि मेरा बेटा और बहू परेशान करते हैं वह अब जीना नहीं चाहती है. मुझे चार दिन से खाना भी नहीं दिया है. बुजुर्ग मां अपने बेटे के साथ रहने के लिए तैयार नहीं थी, इस पर उनकी बेटी उन्हें अपने साथ लेकर चली गई.


ताजगंज में रहने वाली मधु (पत्नी सुरेन्द्र) की दो बेटियां और एक बेटा है. दोनों बेटियों की शादी हो चुकी है. इकलौते बेटे दीपक की भी शादी हो गई है. बेटा मां को ठीक से नहीं रखता है. खर्च के लिए रुपये भी नहीं देता है. वह किसी तरह शादी और पार्टियों में पूड़ियां बेलने का काम करती हैं. पिछले कई माह से काम नहीं मिलने के कारण वह पाई-पाई के लिए मोहताज हो गई. चार दिन से घर में आटा भी नहीं था. बेटे ने भी भोजन नहीं दिया. सोमवार को बेटे ने मां से हद दर्जे की बदसलूकी की. इससे वह इतनी आहत हो गई कि वह शाम को घर से निकल गईं. जवाहर पुल पर आकर उन्होंने यमुना में छलांग लगा दी.


उन्हें कूदते हुए कुछ लोगों ने देख लिया। इस पर गोताखोरों ने भी छलांग लगा दी. इसके बाद उन्हें बचाकर ले आए. गोताखोर उन्हें थाने लेकर गये. बेटियों की शादी के बाद उन्होंने अपने इकलौते बेटे दीपक की भी शादी कर दी, मधु अपने पति सुरेन्द्र के साथ बेटे के पास रहती थी. उन्होंने पुलिस को बताया कि चार साल पहले उनके पति ने भी बेटे और उसकी पत्नी से परेशान होकर यमुना में कूदकर आत्महत्या कर ली थी. इसके बाद भी उसका रवैया नहीं बदला. उनका बेटा ठेला लगाता है, बात बात पर लड़ाई करने के साथ प्रताड़ित करता है, इसलिए वह जिंदा नहीं रहना चाहती है.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top