Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

दो साल के भीतर काशी में मोक्ष मिलना भी हो जाएगा ईको-फ्रेंडली

 Anurag Tiwari |  2016-10-22 04:12:50.0

piped gas, LPG, PNG, CNG, Urja Gang, Varanasi, Cremation, Eco Friendly, Prime Minister, Narendra Modi, Dhrmendra Pradhanकांसेप्ट चित्र

तहलका न्यूज ब्यूरो

वाराणसी. अपने संसदीय क्षेत्र को संवारने में जुटे पीएम नरेंद्र मोदी के दौरे से दो दिन पहले केंद्र सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया है. ऊर्जा गंगा के तहत पाइप्ड गैस वाराणसी के घर घर तक पहुंचनी है.

अब यह तय किया गया है कि आने वाले दो सालों के भीतर ही बनारस के महाश्मशान पर ईको फ्रेंडली अंतिम संस्कार शुरू कर दिया जाएगा. इसके लिए पाइप से गैस सबसे पहले मणिकर्णिका और हरिश्चंद्र घाट पर पहुंचाई जाएगी जहां इसका प्रयोग शवों के अंतिम संस्कार के लिए होगा.

शुक्रवार को केंद्रीय मंत्रियों धर्मेंद्र प्रधान, मनोज सिन्हा और महेंद्र पांडेय ने वाराणसी पहुंचकर तैयारियों का जायजा लिया. इस दौरान तीनो मंत्रियों ने 13 हजार करोड़ रुपए की स्मार्ट सिटी गैस पाइप लाइन योजना के प्रचार वाहन 'ऊर्जा गंगा' वाहन को हरी झंडी देकर रवाना किया. यह ऊर्जा गंगा वाहन पीएम के दौरे से पहले तक शहर भर में घूमकर इस योजना का प्रचार प्रसार करेगी.

पीएम मोदी 24 अक्टूबर को डीएलडब्लू में ‘ऊर्जा गंगा’ प्रोजेक्ट का शिलान्यास करेंगे। इसके तहत सिटी गैस सिस्टम भी है, जिसके जरिए बनारस शहर में  घरों तक पाइप्ड गैस पहुंचाई जाएगी. साथ ही ट्रांसपोर्ट  इंडस्ट्रियल सेक्टर इस पाइप्ड गैस का फायदा मिलेगा. इस प्रोजेक्ट की शुरुआत बनारस में सबसे मणिकर्णिका  हरिश्चन्द्र घाट पर गैस उपलब्ध कराई जाएगी इससे  दोनों घाटों पर 2018 तक नेचुरल गैस से अंतिम संस्कार होने लगेगा.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top