Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

नोटबंदी पर क्या थी 'चाणक्य की नीति', PM मोदी ने भी किया फॉलो

 Abhishek Tripathi |  2016-12-17 03:23:26.0

modi_chanakyaत‍हलका न्यूज ब्यूरो
नई दिल्ली. बीजेपी के संसदीय दल की बैठक में पीएम नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी को लेकर शीतकालीन सत्र के दौरान हंगामा करने वाले विपक्ष पर निशाना साधा। सत्र के आखिरी दिन पीएम मोदी ने सदन शुरू होने से पहले संसदीय दल की बैठक बुलाई थी, जिसमें उन्होंने कांग्रेस समेत पूरे विपक्ष को आड़े हाथों लिया। यहां पीएम मोदी ने कहा 'विपक्ष के लिए देश से बड़ा दल है। शायद इसीलिए नोटबंदी के फैसले का इतना विरोध किया जा रहा है। पीएम मोदी ने विपक्ष को खरी-खोटी सुनाते हुए नोटबंदी के फैसले को ऐतिहासिक बताया।


पीएम मोदी ने विपक्ष को जवाब देते हुए कहा कि चाणक्‍य नीति में कहा गया है कि अन्‍याय से कमाया हुआ धन केवल दस वर्ष टिकता है। 11 वर्ष लगने के बाद वो खुद ही खत्‍म हो जाता है।


विपक्ष को खरी-खरी


1. 1971 में नोटबंदी की जरूरत थी, जो आज हमने किया है।


2. चुनावों के लिए नोटबंदी का काम तब रोका गया था।


3. इंदिराजी के वित्‍त मंत्री कह रहे थे कि ये जरूरी है लेकिन तब ये नहीं किया गया।


4. अगर ये तब हो गया होता तो आज देश बर्बाद नहीं होता।


5. कम्‍युनिस्‍ट पार्टी अपनी विचारधारा से उखड़ चुकी है।


6. भ्रष्‍टाचार के समर्थन में विपक्ष जुट गया है।


7. आपने 88 से अब तक बेनामी संपत्ति वाला कानून लागू क्‍यों नहीं किया।


8. और अब जब हम लागू कर रहे हैं तो हम पर चिल्‍ला रहे हैं।


9. चाणक्‍य नीति में कहा गया है कि अन्‍याय से कमाया हुआ धन केवल दस वर्ष टिकता है। 11 वर्ष लगने के बाद वो खुद ही खत्‍म हो जाता है।


10. हम इस देश को काला धन से मुक्‍त बनाएंगे।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top