Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

PM मोदी को 'जय श्रीराम' के साथ 'अल्लाहु अकबर' भी बोलना चाहिए: आजम खान

 Abhishek Tripathi |  2016-10-29 03:08:21.0

azam_khan_pm_modiतहलका न्यूज ब्यूरो
बरेली. यूपी के कद्दावर मंत्री आजम खान ने एक बार फिर पीएम नरेंद्र मोदी पर हमला बोला है। आजम खान ने कहा 'पीएम मोदी को सार्वजनिक मंच पर 'जय श्रीराम' के साथ-साथ 'नारा-ए-तकबीर' और 'वाहे गुरु का खालसा' के नारे भी लगाने चाहिए।


'जय श्री राम' के नारे पर जताई आपत्ति
आजम खान ने पीएम मोदी के 'जय श्रीराम' का नारा लगाने पर ऐतराज जताते हुए कहा कि पीएम तो संवैधानिक पद है और इस लिहाज से मोदी तमाम मजहबों को मानने वाले लोगों के पीएम हैं। यदि उन्होंने 'जय श्रीराम' का नारा लगाया था तो उन्हें 'नारा-ए-तकबीर अल्लाह अकबर' और 'वाहे गुरु का खालसा, वाहे गुरु की फतेह' भी बोलना चाहिए था। बता दें कि पीएम मोदी ने बीते 11 अक्टूबर को दशहरा के मौके पर लखनऊ में आयोजित सभा में कई बार 'जय श्रीराम' का नारा लगाया था। इसे लेकर विपक्षी दल पीएम मोदी की आलोचना कर रहे हैं।


ये सब पर्सनल लॉ बोर्ड तय करेगा
'तीन तलाक' के मुदृदे पर आजम खान ने कहा कि तलाक कैसे होगा, शादी कैसे होगी और नमाज कैसे पढ़ी जाएगी? यह बातें पर्सनल लॉ बोर्ड ही तय करेगा। इस मामले में पीएम मोदी को राजनीति नहीं करनी चाहिए।


अयोध्या स्मारक पर जताया विरोध
अयोध्या में भगवान राम का स्मारक बनाए जाने के सवाल पर आजम ने कहा कि अल्लाह ने एक लाख 40 हजार पैगंबर दुनिया में भेजे हैं। उनमें से 20 के नाम कुरान शरीफ में हैं। राम और कृष्ण हमारे रहनुमा पेशवा हो भी सकते हैं और नहीं भी। विद्वानों के बीच इस मुद्दे पर बहस चल रही है। ऐसे में बीजेपी के अयोध्या में स्मारक बनाने पर हमें एतराज है। आजम ने कहा कि किसी की यादगार को मिटाकर उस जगह किसी और की यादगार बनाना ठीक नहीं है। उन्होंने कहा कि अयोध्या में मस्जिद बाबर ने नहीं बनवाई थी। मस्जिद किसी के भी नाम पर हो सकती है।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top