Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

विद्यार्थियों को विज्ञान, प्रौद्योगिकी को पेशे के रूप में चुनना चाहिए : मोदी

 Girish Tiwari |  2016-06-26 05:39:23.0

modi-man

तहलका न्‍यूज ब्‍यूरो
नई दिल्‍ली: 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में योगदान देने पर भारतीय विद्यार्थियों को बधाई दी और कहा कि युवाओं को विज्ञान एवं शोध को पेशे के रूप में अपनाने की अभी और जरूरत है। मोदी अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम 'मन की बात' के 21वें संस्करण को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने देश को संबोधित करते हुए कहा, "मुझे विज्ञान एवं तकनीक के क्षेत्र में हमारे युवा विद्यार्थियों का योगदान देख कर गर्व महसूस होता है। मैं चाहता हूं कि ज्यादा से ज्यादा विद्यार्थी विज्ञान एवं तकनीक को अपने पेशे या काम-धंधे के रूप में चुनें।"

मोदी ने अपने संबोधन की शुरुआत हाल में देश में 20 उपग्रह लांच किए जाने का उल्लेख कर की। उन्होंने कहा कि भारत अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने देश को गौरवान्वित किया है।


प्रधानमंत्री ने कहा, "हालिया उपग्रह लांच में गर्व की बात यह है कि 20 में से 17 विदेशों के उपग्रह थे। क्या यह कमाल की बात नहीं है। हमारे वैज्ञानिक देश को नई ऊंचाइयों पर ले जाने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं।"

मोदी ने देश को वायुसेना में महिला लड़ाकू विमान पायलट के पहले दस्ते को शामिल किए जाने पर भी बधाई दी।

उन्होंने कहा कि सरकार की 'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' योजना को देश के कोने-कोने में लागू किया गया है। उन्होंने कहा, "18 जून को वायु सेना में महिला लड़ाकू विमान पायलटों को शामिल किया गया। "

इस दौरान उन्होंने दुनियाभर में पिछले दिनों मनाए गए अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की सफलता पर भी ध्यान खींचा।

मोदी ने कहा, "अगर हम में से हर कोई स्वयं को योग से जोड़ ले तो योग में पूरी दुनिया को जोड़ने की शक्ति है। हमारे देश में एक लाख से अधिक जगहों पर पूरे उत्साह के साथ अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया गया।"

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top