Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

पश्चिम बंगाल : शुरुआती चार घंटों में 42 प्रतिशत मतदान

 Tahlka News |  2016-04-25 04:26:41.0

a34709019487efc8c4be79d8de5c9d6c


कोलकाता, 25 अप्रैल. पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के चौथे चरण के तहत सोमवार को दो जिलों, हावड़ा और उत्तर 24 परगना के 49 विधानसभा क्षेत्रों में शुरुआती चार घंटों में लगभग 42 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया। निर्वाचन आयोग के एक अधिकारी ने बताया कि सुबह 11 बजे तक कुल 42.01 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया। उत्तर 24 परगना में 42.37 प्रतिशत और हावड़ा में 41.25 प्रतिशत मतदान हुआ। मतदान की प्रक्रिया सुबह सात बजे शुरू हुई और यह शाम छह बजे तक चलेगी।


चुनाव आयोग का कहना है कि मतदान शांतिपूर्ण है, लेकिन भाजपा और कांग्रेस ने कुछ मतदान केंद्रों पर धांधली के आरोप लगाए हैं।

उत्तरी हावड़ा से चुनाव लड़ रहीं भाजपा उम्मीदवार रूपा गांगुली ने एक मतदान केंद्र पर मतदान प्रक्रिया में धांधली का आरोप लगाया। उन्हें कथित तौर पर तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं का विरोध भी झेलना पड़ा।

वहीं, इस विधानसभा क्षेत्र से रूपा के प्रतिद्वंद्वी और तृणमूल उम्मीदवार पूर्व क्रिकेटर लक्ष्मी रतन शुक्ला ने क्षेत्र में शांतिपूर्ण मतदान की बात कही।

चुनाव आयोग ने रूपा गांगुली की गतिविधियों के बारे में हावड़ा जिले के अधिकारियों से रिपोर्ट मांगी है।

माकपा नेता तन्मय भट्टाचार्य (उत्तरी दम दम) का आरोप है कि तृणमूल के समर्थकों द्वारा कथित तौर पर एक मतदाता की पिटाई के बाद जब वह उससे मिलने गए तो तृणमूल के कार्यकर्ताओं और बाहरी लगों के एक समूह ने उनकी कार के शीशे पर ईंट फेंकी। उन्होंने अपना घायल दाहिना हाथ और टूटे हुए कांच के शीशे दिखाए।

निर्दलीय उम्मीदवार प्रतिमा दत्ता (पर्यावरण कार्यकर्ता तपन दत्ता की पत्नी, तपन की हत्या कर दी गई थी) का आरोप है कि हावड़ा के दोमजुर के कई मतदान केंद्रों पर मतदान एजेंटों ने उन्हें अंदर घुसने नहीं दिया।

बेल्घेरिया के जतिन दास नगर के मतदान केंद्र पर बम हमले की भी खबर है।

चौथे चरण के तहत जिन 49 विधानसभा सीटों पर मतदान हो रहे हैं, उनमें से 33 उत्तरी 24 परगना जिले में और शेष 16 हावड़ा जिले में हैं।

चौथे चरण के तहत 12,481 मतदान केंद्रों पर 1.08 करोड़ से अधिक मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करने के लिए पंजीकृत हैं। इस चरण में 345 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं, जिनमें से 40 महिलाएं हैं।

निर्वाचन आयोग इस चरण के लिए 14,353 इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) और 680 वोटर वेरीफाइड पेपर ऑडिट ट्रेल (वीवीपीएटी) मशीन का इस्तेमाल कर रहा है।

सुरक्षा व्यवस्था के लिहाज से केंद्रीय बलों की 672 कंपनियों और 23,000 पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई है। इसके साथ ही दोनों जिले में पारदर्शी एवं निष्पक्ष चुनावों के लिए आवश्यक बंदोबस्त किए गए हैं।

वर्ष 2011 के विधानसभा चुनावों में तृणमूल कांग्रेस ने इन 49 में से 43 सीटों पर जीत दर्ज की थी। कांग्रेस को दो सीटें मिली थी। वामपंथी मोर्चे में मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) को तीन और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) को एक सीट मिली थी।

तृणमूल और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने सभी निर्वाचन क्षेत्रों में अपने उम्मीदवारों को उतारा है। वामपंथी मोर्चे के घटक और कांग्रेस 46 सीटों पर चुनाव लड़ रहे हैं, जबकि जनता दल (युनाइटेड) एक सीट पर और दो सीटों पर निर्दलीय उम्मीदवार चुनावी मैदान में हैं।

उत्तर 24 परगना की खारदा सीट से एक बार फिर दो अर्थशास्त्री आमने-सामने हैं। तृणमूल सरकार में वित्त, उद्योग एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री अमित मित्रा और माकपा के असीम दासगुप्ता इस सीट से चुनाव मैदान में उतरे हैं।

राज्य में पांचवें चरण के तहत 53 सीटों के लिए मतदान 30 अप्रैल को और छठे चरण के तहत पांच मई को 25 विधानसभा क्षेत्रों में मतदान होगा।

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top