Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

कश्मीर में लगे पोस्टर- 'लड़कियां स्कूटी न चलाएं वर्ना गाड़ी समेत जिंदा जला देंगे'

 Abhishek Tripathi |  2016-08-01 05:42:06.0

kashmir_violenceतहलका न्यूज ब्यूरो
श्रीनगर. कश्मीर में हिंसा अभी जारी है। आतंकी बुररहान वानी की मौत से गुस्साए अलगाववादी नेता और उनके समर्थक सड़कों पर उतरकर बच्चों की आड़ में हिंसा फैलाने का काम कर रहे हैं। वहीं, कश्मीर हिंसा में अब एक नया मामला सामने आया है। कश्मीर में लड़कियों को स्कूटी से न चलने की वार्निंग दी गई है। वार्निंग में ये भी कहा गया है कि कि यदि लड़कियों को स्कूटी चलाते देखा गया तो उन्हें स्कूटी समेत जिंदा जला दिया जाएगा।


अंग्रेजी और उर्दू में लिखे ये चौंकाने वाले पोस्टर 'संघबाज एसोसिएशन ऑफ जम्मू एंड कश्मीर' के नाम से लगाए गए हैं। उसके साथ लिखा है 'कश्मीर में पत्थर फेंकने वालों का संगठन।' पुलिस पोस्टर लगाने वालों की तलाश कर रही है। लोगों से पुलिस ने अपील की है कि परेशान न हों। हम सुरक्षा की गारंटी लेते हैं। जो स्कूटी पर जाएंगी, हम उनका खास तौर पर ध्यान रखेंगे।


इस बीच, कश्मीर में 23वें दिन भी प्रदर्शन जारी रहा। सीएम महबूबा मुफ्ती सुबह महिला कॉलेज श्रीनगर में बनाए गए सीईटी के एक्जाम सेंटर का जायजा लेने पहुंचीं तो उन्हें स्टूडेंट्स के पेरेंट्स के विरोध का सामना करना पड़ा। पेरेंट्स का कहना था कि आप यहां क्यों आईं, आपके आने से हल्ला मच सकता है और बच्चों का पेपर बिगड़ सकता है। इसके बाद सीएम वहां से लौट गईं।


बुजुर्गों को भी थप्पड़ मार देते हैं 10 साल के बच्चे
अगर कोई बुजुर्ग दुकान खोलता है तो 10 साल का बच्चा भी उसे थप्पड़ मार देता है। शादी में जा रही लड़कियों को रोककर बच्चे उनके कपड़ों पर सवाल उठाते हैं। सीएम महबूबा मुफ्ती ने एक चैनल से बातचीत में कहा कि आज से 10 साल बाद हमारे बच्चों का क्या होगा? बिजनेसमैन और अफसर अपने बच्चों को बाहर भेज देते हैं। गरीब भी सब कुछ बेचकर पढ़ाई के लिए बच्चों को बाहर ही भेजना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि सरकार चाहती है कि बच्चों को कोई तकलीफ न हो।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top