Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

बिजली संकट: 90 गांवों की बिजली गुल, सोते रहे अधिकारी

 Tahlka News |  2016-04-14 16:29:57.0

a1तहलका न्यूज ब्यूरो
कानपुर, 14 अप्रैल. गुरुवार को मंधना बिजली उपकेंद्र से जुड़े नब्बे गांवों में एक साथ बिजली कटने से हाहाकार मच गया। रामनगर गांव में तीन दिनों से बिजली ना आने से गांव के लोग सुबह बिजली घर पहुंचे और हंगामा काटा। इसके साथ बिजलीघर के राहूमाता, मंधना, कुरसौली फीडर को जबरन बन्द करा दिया। जिससे एक साथ नब्बे गांवों की बिजली सप्लाई बन्द हो गई। गांवों की बिजली सप्लाई बन्द होते ही बिजली विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंच गये। ग्रामीणों को समझाने का प्रयास किया पर वह नही माने। रामनगर गांव की बिजली ठीक होने के बाद सप्लाई चालू की गई।

मंधना के रामनगर गांव में सोमवार की रात से फाल्ट होने से बिजली नहीं आ रही थी। लगातार गांव के लोग बिजली विभाग के अधिकारियों से फाल्ट सही करने की मांग कर रहे थे। अधिकारियों व बिजली विभाग के कर्मचारियों की लापरवाही के चलते लाइन का फाल्ट ठीक नहीं हुआ। गर्मी व पानी की किल्लत झेल रहे गांव के लोगों का सब्र का बांध गुरुवार की सुबह टूट गया। गांव के लोग मंधना बिजली घर पर आ गये और हंगामा करने लगे। मौके पर कोई बिजली लाइन मैन के ना होने पर लोगों का गुस्सा बढ़ गया। मंधना बिजली घर से राहूमाता, मंधना, कुरसौली फीडर को बिजली सप्लाई दी जाती है। गुस्से में लोगो ने सुबह सात बजे एसएसओ को धमका कर तीनों फीडर बन्द करा दिये जिससे क्षेत्र के नब्बे गांवों की बिजली सप्लाई बन्द हो गई।


बिजली सप्लाई बन्द होने के कुछ ही देर बाद गांवों से बिजलीघर व अधिकारियों के पास फोन आने लगे। अधिकारियों को पता चला कि लोगो ने तीनों फीडर बन्द करा दिये है। मौके पर जेई व एसडीओ पहुंचे। ग्रामीणों से बात कर समझाने का प्रयास किया। लोगो ने साफ कहा कि जब तक रामनगर गांव के फाल्ट को ठीक नहीं किया जाता वह सप्लाई नहीं शुरू होने देंगे। एसडीओ ने चार लाइन मैनो को मौके पर भेजा और तत्काल फाल्ट सही करने के निर्देश दिए। करीब साढे बारह बजे बिजली सप्लाई शुरू की जा सकी। करीब पांच घंटे नब्बे गांवों की बिजली सप्लाई बन्द रही। एसडीओ विनोद कुमार ने बताया कि लापरवाही बरतने वाले लाइनमैनों के खिलाफ कार्रवाई की जायेगी। मामले की जांच की जा रही है।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top