Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

स्मॉग से हैं परेशान तो अपनाएं राहत के ये 5 उपाय

 Anurag Tiwari |  2016-11-06 12:30:45.0

smog, delhi, atmosphere, pollution, breathing, purifier

तहलका न्यूज वेब टीम

दीपवाली के बाद से देश की राजाधानी दिल्ली सहित पूरे उत्तर भारत में स्मॉग छाया हुआ है. इसके चलते सांस के रोगियों के साथ-साथ आम इंसान भी परेशान हैं. एक अनुमान के मुताबिक़ स्मॉग से प्रभावित इलाकों में रहने वाले एक दिन में 40 सिगरेट के बराबर धुआं सांस के साथ अंदर ले रहे हैं. यह हालात बच्चों के लिए खासतौर पर खतरनाक है. अगर आप ऐसे इलाके में रह रहे हैं तो स्मॉग के प्रभाव को कम करने एक लिए करें यह उपाय. भले ही यह उपाय आपको पूरी तरह से स्मॉग के प्रभाव से न बचा पाएं, लेकिन राहत देकर उसका असर करने में जरूर मददगार साबित होंगे. डॉक्टरों के मुताबिक़:



  • जब वातावरण में स्मॉग फैला हो तो जॉगिंग के लिए हरगिज न निकलें, ऐसा करने पर आप तेजी से सांस लेने लगेंगे और आपकी सांस के साथ वातावरण का प्रदूष्ण तेजी से शरीर के अन्दर जाएगा. यह सांस के रोगों का खतरा बढ़ा देगा.

  • आप अपने लिविंग रूम में कुछ पौधे रख लें. पौधे कार्बन-डाई-ऑक्साइड लेकर ऑक्सीजन बाहर छोड़ते हैं, जो आपको राहत पहुंचाएगा.

  • अगर आप दिवाली की खरीददारी के बाद खर्च करने की स्थिति में हों तो तुरंत एक एयर-प्यूरीफायर खरीद लें, जो आपके घर के अन्दर रहने पर साफ़ हवा उपलब्ध कराएगा.

  • घर में झाडू़ हरगिज न न लगाएं, इससे उड़ने वाली धुल वातावरण में फैले स्मॉग के साथ मिलकर आपको और अधिक नुक्सान पहुंचाएगी. घर की सफ़ाई करने के लिए गीले कपड़े के पोंछे का इस्तेमाल करें, इससे धुल हवा में नहीं उड़ेगी.

  • घर में रहने पर पूजापाठ के लिए अगरबत्ती या मच्छर भागने वाली अगरबत्ती हरगिज न जलाएं. घर में अगरबत्ती या मोस्क्यूटो कॉयल जलाने से पैदा होने वाला धुआं प्रदूषण को और खतरनाक बना आपको नुकसान पहुंचाएगा.

  • जब घर से बाहर निकलना मजबूरी हो तभी बाहर निकलें. गहर से बाहर निकलने पर और मास्क का प्रयोग करें. खासतौर से घर के छोटे बच्चों और बुज़ुर्गों को बाहर की हवा से बचाएं.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top