Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

BHU VC के खिलाफ निकला प्रोटेस्ट मार्च, क्रिमिनल केस दर्ज करने की मांग

 Anurag Tiwari |  2016-05-26 15:16:44.0

protest march, BHU VC, Varanasi

तहलका न्यूज़ ब्यूरो

वाराणसी. गुरुवार को बीएचयू गेट से एक प्रोटेस्ट  मार्च का अयोजन किया गया। इस प्रोटेस्ट  मार्च का आयोजन बीएचयू  एडमिनिस्ट्रेशन द्वारा स्टूडेंट्स  के प्रति तानाशाही रवैया अपनाने, अपने सुरक्षा गार्डों और असामाजिक तत्वों से लोकतन्त्र पसंद नागरिकों और पत्रकारों पर हमला कराने और डिस्ट्रिक्ट एडमिनिस्ट्रेशन  द्वारा अनशनरत स्टूडेंट्स  की गिरफ़्तारी के विरोध में किया गया। यही नहीं प्रोटेस्ट मार्च में भाग लेने वालों ने बीएचयू वीसी और उनके गुर्गों के खिलाफ क्रिमिनल केस दर्ज करने की मांग भी की।


स्टूडेंट्स दे रहे थे धरना

बीएचयू कैंपस स्थित स्टूडेंट्स यूनियन बिल्डिंग पर पिछले 9 दिनों से 10 स्टूडेंट्स सेंट्रल लाइब्रेरी को 24 घंटे खुला रखने की मांग ले कर अनिश्चितकालीन अनशन पर बैठे थे। स्टूडेंट्स  की सेहत लगातार बिगड़ती जा रही थी। कुलपति के द्वारा मामले में त्वरित हस्तक्षेप कर लोकतांत्रिक तरीके से स्टूडेंट्स हित में निर्णय की अपेक्षा थी। लेकिन दिनांक 24 मई को एक स्टूडेंट्स को कुलपति के द्वारा डरा धमका कर आन्दोलन से अलग कर दिया गया। और बाकी सभी स्टूडेंट्स  को कैंपस से निष्कासित करने का तुगलकी फरमान जारी कर दिया गया। स्टूडेंट्स  का अनशन जारी रहा। दिनांक 25 और 26 मई की रात को सभी स्टूडेंट्स  को नाटकीय ढ़ंग से जिला पुलिस ने गिरफ़्तार कर लिया।

विवादित है वीसी के काम करने का तरीका

मार्च के पहले, लन्का स्थित सिंह द्वार पर हुई सभा को सम्बोधित करते हुए वक्ताओं ने कुलपति की कार्यप्रणाली को बेहद विवादास्पद बताते हुए कहा कि कुलपति को एक अच्छे शिक्षक और अभिभावक की परम्परा का ध्यान रखते हुए ही व्यवहार करना चाहिये। इसके उलट, कैम्पस के भीतर शिक्षण व्यवस्था को बेहतर बनाने की मांग को लेकर अनशन पर बैठे स्टूडेंट्स  के विरोध में यह कुलपति लम्पट समूहों को प्रोत्साहन देने में लगा हुआ है। इसी प्रोत्साहन का नतीजा है कि बीएचयू  के सुरक्षाकर्मियों और अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से जुड़े स्टूडेंट्स  ने आम आदमी पार्टी की कार्यकर्ताओं और पत्रकारों के साथ मार पीट की। वक्ताओं ने कहा कि संसकृति के नाम की दुहाई देने वाले कुलपति ने चंद भटके हुए स्टूडेंट्स  को जुटा कर आम आदमी पार्टी की महिला कार्यकर्ताओं के साथ बदसलूकी करने को प्रेरित किया। वक्ताओं ने कैंपस के अन्दर कल हुई मारपीट की तीव्र निन्दा करते हुए कहा कि वर्तमान कुलपति से यह कैंपस नहीं सम्भल रहा है, ऐसे में उन्हें इस्तीफा दे देना चाहिये।

वीसी के खिलाफ दर्ज हो क्रिमिनल केस

वक्ताओं ने अनशन स्थल पर कल शाम डीएम और एसपी द्वारा अनशनकारी स्टूडेंट्स  से मुलाकात पर भी सवाल उठाये। सभी नें कहा कि डिस्ट्रिक्ट एडमिनिस्ट्रेशन  के संग्यान में होते हुए भी कैंपस के अन्दर शिक्षा के माहौल को बेहतर बनाने के लिये 24 घंटे पुस्तकालय खुला रखने की स्टूडेंट्स  की मांग पर डिस्ट्रिक्ट एडमिनिस्ट्रेशन  द्वारा जिम्मेदारीपूर्ण तरीके से कोई भी पहल क्यों नहीं की गयी। वक्ताओं ने डिस्ट्रिक्ट एडमिनिस्ट्रेशन  से यह मांग की कि एजुकेशनल कैंपस के अन्दर उन्माद का वातावरण बना कर स्टूडेंट्स  और सुरक्षाकर्मियों को मारपीट के लिये उकसाने वाले कुलपति और प्रौक्टोरियल बोर्ड के विरुद्ध तत्काल क्रिमिनल केस रजिस्टर किया जाये, और मामले की निष्पक्ष जांच कराई जाये।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top