Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

PAC ने RBI गवर्नर उर्जित पटेल से पूछा क्यों न उन्हें पद से हटा दिया जाए?

 Girish |  2017-01-11 11:06:50.0

public accounts committee, RBI, Governor, Urjit Patel, Piyush Goel, Notebandi, Cash Ban, Note Ban,


तहलका न्यूज ब्यूरो

नई दिल्ली. भारतीय संसद के कुछ चुने हुए सदस्यों वाली समिति लोक लेखा समिति (PAC) ने रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के गवर्नर उर्जित पटेल के प्रति कड़ा रुख अपनाया है. पीएसी ने उर्जित पटेल को 20 जनवरी को अपने सामने पेश होने के निर्देश दिए हैं.

सीनियर कांग्रेस लीडर केवी थॉमस की अगुवाई में बनी पीएसी ने आरबीआई गवर्नर से से नोटबंदी के मुद्दे पर 10 सवाल पूछे हैं. इन सवालों के जरिए उनसे फैसला लेने में केंद्रीय बैंक की भूमिका, अर्थव्‍यवस्‍था पर प्रभाव और आरबीआई गवर्नर के रेगुलेशंस में पिछले दो महीनों में आए बदलाव की जानकारी मांगी गई है. पीएसी ने यह निर्देश 30 दिसंबर को भ्जेआ था. इसमें पीएसी ने आरबीआई गवर्नर से पूछा है कि अगर कॅश निकालने पर पाबंदी लगाने को लेकर कोई कानून नहीं है तो उन पर अपने पद की शक्तियों का दुरुपयोग करने के लिए मुकदमा क्‍यों न चलाया जाए और उन्‍हें उनके पद से हटा क्‍यों न दिया जाए?

पीएसी द्वारा पूछे गए सवाल इस प्रकार हैं :

  1. केंद्रीय ऊर्जा मंत्री पीयूष गोयल ने सदन को सूचित किया था कि नोटबंदी का फैसला आरबीआई और इसके बोर्ड द्वारा लिया गया था और सरकार ने सिर्फ इस सलाह पर कार्रवाई की थी, क्‍या आप सहमत हैं?

  2. अगर यह फैसला सिर्फ आरबीआई का ही था, तो आरबीआई ने कब तय किया कि नोटबंदी ही भारत के हित में हैं?

  3. किन कारणों के चलते आरबीआई ने नोटबंदी के लिए रातोंरात 500 और 1000 रुपए के नोट बंद करने का फैसला लिया?

  4. आरबीआई ने अपने अनुमान में बताया है कि कि भारतीय बाजार में में सिर्फ 500 करोड़ रुपए की नकली/जाली करंसी का सर्कुलेशन है. जीडीपी के मुकाबले भारत में कैश सिर्फ 12 फीसदी था जो कि जापान के 18% और स्विट्जरलैंड 13% से कम है. भारत में मौजूद कॅश में हाई वैल्यू के नोटों का हिस्‍सा 86% था, लेकिन चीन में 90% और अमेरिका में 81% है. ऐसे में अचानक क्‍या जरूरत आन पड़ी कि आरबीआई को विमुद्रीकरण का फैसला लेना पड़ा?

  5. 8 नवंबर को होने वाली आपातकालीन बैठक के लिए आरबीआई बोर्ड के मेम्बर्स को कब नोटिस भेजा गया था? उनमें से कौन कौन इस बैठक में उपस्थित था? यह बैठक कितनी देर चली? और बैठक की मिनट्स ऑफ़ मीटिंग कहां है?

  6. नोटबंदी की सिफारिश करते हुए कैबिनेट को भेजे गए नोट में, क्‍या आरबीआई ने साफ-साफ सूचित किया था कि इस फैसले का मतलब देश की 86 फीसदी कॅश को इनवैलिड करना होगा? इसके बाद आरबीआई उतनी ही नकदी कब तक व्‍यवस्‍था में लौटा सकेगी?

  7. सेक्‍शन 3 c(v) के तहत 8 नवंबर, 2016 को आरबीआई की अधिसूचना द्वारा बैंक खातों से काउंटर के जरिए 10,000 रुपए प्रतिदिन और 20,000 रुपए प्रति सप्‍ताह निकासी की सीमा तय कर दी गई। एटीएम में भी 2,000 रुपए प्रति दिन निकासी की सीमा लगाई गई। किस कानून और आरबीआई को मिली शक्तियों के तहत लोगों पर अपनी ही नकदी निकालने पर सीमा तय की गई? देश में करंसी नोटों की सीमा तय करने की ताकत आरबीआई को किसने दी? अगर ऐसा कोई नियम आप न बता सकें, तो क्‍यों न आप पर मुकदमा चलाया जाए और शक्‍त‍ियों का दुरुपयोग करने के लिए पद से हटा दिया जाए?

  8. पिछले दो महीनों से आरबीआई ने अपने रेगुलेशंस में बार-बार बदलाव क्‍यों हुए? कृपया हमें उस आरबीआई ऑफिसर का नाम बताएं जिसे निकासी के लिए लोगों पर स्‍याही लगाने का विचार आया? शादी से जुड़ी निकासी वाली अधिसूचना किसने तैयार की थी? अगर यह सब आरबीआई ने नहीं, सरकार ने किया था तो क्‍या अब आरबीआई वित्‍त मंत्रालय का एक विभाग है?

  9. नोटबंदी के दौरान कितने नोट बंद किए गए और पुरानी करेंसी में से कितने नोट वापस जमा किए जा चुके हैं? जब 8 नवंबर को आरबीआई ने सरकार को नोटबंदी की सलाह दी तो कितने नोटों के वापस लौटने की संभावना जताई गई थी?

  10. आरबीआई ने आरटीआई के तहत जानकारी देने से मना क्‍यों किया है, वह भी निजी चोट का डर जैसा कारण बताकर? आरटीआई के तहत मांगी जाने वाली जानकारी देने को आरबीआई क्‍यों नहीं दे रहा?

Tags:    

Girish ( 4001 )

Tahlka News Contributors help bring you the latest news around you.


  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top