Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

नोटबंदी एक आर्थिक डकैती है: राहुल गांधी

 Sabahat Vijeta |  2016-12-23 10:42:00.0

rahul


तहलका न्‍यूज ब्‍यूरो
अल्‍मोड़ा:
कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी शुक्रवार को अल्मोड़ा के एसएसजे परिसर मैदान में रैली की। इस दौरान उन्‍होंने जनसभा को संबोधित किया। राहुल ने बशीर बद्र की लाइन को कोट करते हुए अपनी भाषण की शुरुआत की। शेर के जरिए राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर निशाना साधा और कहा-


लोग टूट जाते हैं एक घर बनाने में,
तुम तरस नहीं खाते बस्तियां जलाने में।

राहुल गांधी ने कहा कि नोटबंदी एक आर्थिक डकैती है। पीएम मोदी सिर्फ 15 परिवारों के लिए काम कर रहे हैं। पीएम मोदी ने किसानों का कर्जा माफ नहीं किया, उल्टे किसानों की जमीन छीन ली। राहुल ने कहा कि किसी की मृत्यु होती है तो हम शोक मनाते हैं। कम से कम 2 मिनट का मौन रखते हैं। नोटबंदी के फैसले से सैकड़ों लोगों ने अपनी जान गँवा दी। हम संसद में शोक व्यक्त करना चाहते थे, लेकिन सरकार ने हमें करने नहीं दिया। राहुल गांधी ने रैली को संबोधित करते हुए कहा कि नोटबंदी कोई सर्जिकल स्ट्राइक नहीं बल्कि आम लोगों पर फायर बॉम्बिंग है। नरेंद्र मोदी के नोटबंदी के फैसले ने गरीबों और महिलाओं की कमर तोड़ दी।


राहुल गांधी ने रैली से किसानों का कर्जा माफ, बिजली के दाम हाफ और अनाज का सही दाम नारा दिया और कहा कि मैं देश के दो करोड़ गरीब किसानों का कर्जा माफ करने के लिए मोदी जी के पास गया लेकिन उन्होने मेरी बात नहीं सुनी। मोदी जी तो मनरेगा के मजदूरों का मजाक उड़ाते हैं तो कर्जा कहां से माफ करेंगे। इसके अलावा मेहसाना रैली में लगाए गए आरोपों को राहुल गांधी ने दोहराया है। उन्होंने इनकम टैक्स के दस्तावेज पेश करते हुए कहा कि मोदी जी ने सहारा कंपनी से 6 महीने में 9 बार करीब 40 करोड़ रुपए की घूँस ली।


मैं मोदी जी से पूछता हूं कि देश का काला धन 1 प्रतिशत अमीर के पास है या 99 प्रतिशत भारत की आम जनता के पास है। मोदी जी देश का काला धन पैसों के रुप में बहुत कम है। देश का 90 प्रतिशत काला धन विदेशी बैंको में, रियल स्टेट और सोने के रूप में है। जिसके खिलाफ तो आपने कुछ किया ही नहीं।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top