Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

राजनाथ ने अमरनाथ, हजरतबल में मत्था टेका

 Girish Tiwari |  2016-07-02 10:38:23.0

raj 1

श्रीनगर, 2 जुलाई. केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने अमरनाथ गुफा में पारंपरिक पूजा और दर्शन में हिस्सा लिया तथा श्रीनगर स्थित हजरतबल दरगाह पर जियारत की। राजनाथ शनिवार सुबह दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग में भगवान अमरनाथ की पवित्र गुफा के लिए हेलीकॉप्टर से रवाना हुए।

सिंह के साथ जम्मू एवं कश्मीर के राज्यपाल एन.एन.वोहरा भी थे। वोहरा श्री अमरनाथ मंदिर बोर्ड के अध्यक्ष भी हैं, जो भगवान अमरनाथ की वार्षिक यात्रा का आयोजन करता है। इस साल यह यात्रा शनिवार को शुरू हुई।

राजनाथ और वोहरा इस साल की 48 दिनों तक चलने वाली यात्रा के शुभारंभ की घोषणा के लिए गुफा के अंदर विशेष पूजा में शामिल हुए। दोनों ने देश में शांति और विकास के लिए प्रार्थना की।


raj 2

गुफा के दर्शन के बाद राजनाथ ने ट्वीट कर कहा, "आज (शनिवार) सुबह अमरनाथ जी की गुफा का दर्शन कर धन्य हो गया। जय बाबा भोले नाथ।"

बाद में केंद्रीय गृहमंत्री ने श्रीनगर स्थित हजरतबल दरगाह पर भी जियारत की। इस दौरान राज्य के पुलिस महानिदेशक के. राजेंद्र कुमार राजनाथ सिंह के साथ थे।

सिंह ने शुक्रवार को एक बैठक में जम्मू एवं कश्मीर की सुरक्षा स्थिति की समीक्षा की, जिसमें अन्य वरिष्ठ अधिकारियों, केंद्रीय खुफिया और सुरक्षा बल एजेंसियों के अलावा राज्यपाल एन.एन. वोहरा और मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने भाग लिया।

अमरनाथ तीर्थयात्रा की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए उठाए गए कदमों के बारे में सिंह को जानकारी दी गई। यात्रा में हर साल लाखों लोग भाग लेते हैं।

बैठक में हुई चर्चा के बारे में अधिकारियों ने कहा, "बैठक के दौरान राज्य से संबंधित कई मुद्दों पर चर्चा हुई। नियंत्रण रेखा पर व्यापार के लिए और मार्ग खोले जाने के मुद्दे पर राजनाथ ने सकारात्मक परिणाम का आश्वासन दिया। इसके अलावा विदेशियों को नुब्रा घाटी सहित लद्दाख की यात्रा की अनुमति, भूमि संबंधी मुद्दों के त्वरित समाधान और शहीद पुलिसकर्मियों के परिवारों को दी जाने वाली अनुग्रह राशि में वृद्धि पर चर्चा हुई।"

raj 3

मंत्री ने जम्मू एवं कश्मीर में विशेष भर्ती अभियान की संभावना तलाशने हेतु सीमा सुरक्षा बल और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल को निर्देश दिए।

इससे पहले राज्य सरकार के सूत्रों ने कहा कि एकीकृत मुख्यालय से जुड़े सभी अधिकारी बैठक में उपस्थित रहेंगे।

राज्य में आतंक रोधी अभियानों में सलंग्न सभी खुफिया एजेंसियों और सुरक्षा बलों में तालमेल बैठाने के लिए एकीकृत मुख्यालय सर्वोच्च सुरक्षा तंत्र है।(आईएएनएस)|

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top