Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

दुनिया के किसी और देश में नहीं मनाया जाता रक्षा बंधन : अखिलेश

 Sabahat Vijeta |  2016-08-18 13:26:44.0

akh-rakhi




  • रक्षाबंधन का पर्व आपसी भाईचारा बढ़ाने का संदेश देता है: मुख्यमंत्री

  • यह अनूठा पर्व देश की प्राचीन परम्परा का हिस्सा है

  • मुख्यमंत्री आवास पर रक्षाबंधन कार्यक्रम आयोजित

  • विभिन्न समुदाय की बालिकाओं और महिलाओं ने मुख्यमंत्री को बांधी राखी

  • मुख्यमंत्री ने रियो ओलम्पिक की पदक विजेता सुश्री साक्षी मलिक को रानी लक्ष्मीबाई वीरता पुरस्कार से सम्मानित करने की घोषणा की


लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि रक्षाबंधन पर्व का यह संदेश है कि आपसी भाईचारा बढ़े और समाज में खाई पैदा करने वाली ताकतों का खात्मा हो। इस पर्व में भाई की कलाई पर जब राखी बांधी जाती है तो वह बहन की रक्षा का संकल्प लेता है। उन्होंने रक्षाबंधन को एक अनूठा पर्व बताते हुए कहा कि ऐसा त्यौहार दुनिया के अन्य किसी देश में नहीं मनाया जाता, जिसमें बहन भाई को राखी बांधती है। यह त्यौहार देश की प्राचीन परम्परा का हिस्सा है।


akh-rakhi-2मुख्यमंत्री आज यहां अपने सरकारी आवास पर आयोजित रक्षाबंधन कार्यक्रम को सम्बोधित कर रहे थे। इस अवसर पर विभिन्न समुदायों की बालिकाओं एवं महिलाओं ने मुख्यमंत्री को राखी बांधी। श्री यादव ने उन्हें उपहार भेंट किए। सुश्री सरिता शर्मा एवं ब्रह्मकुमारी सुश्री राधा बहन ने भी इस मौके पर मुख्यमंत्री को राखी बांधी।


cm-rakhi


मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के आवास पर आज बेगम अल्मास अब्दुल्लाह भी राखी बंधने पहुँचीं. इस मौके पर कन्नौज की सांसद डिम्पल यादव, राजनैतिक पेंशन मंत्री राजेन्द्र चौधरी और नवाब जाफ़र मीर अब्दुल्लाह भी मौजूद थे.


मुख्यमंत्री ने रियो ओलम्पिक-2016 में कुश्ती में कांस्य पदक जीतने वाली भारतीय महिला पहलवान सुश्री साक्षी मलिक को बधाई देते हुए उन्हें रानी लक्ष्मीबाई वीरता पुरस्कार से सम्मानित करने की घोषणा की। श्री यादव ने कहा कि समाजवादी सरकार खेलों को बढ़ावा देने के लिए लगातार कार्य कर रही है तथा खिलाड़ियों को अनेक प्रकार सुविधाएं भी मुहैया करा रही है।


श्री यादव ने आयोजन के प्रेरक प्रख्यात कवि एवं उ.प्र. भाषा संस्थान के कार्यकारी अध्यक्ष डाॅ. गोपालदास नीरज के प्रयासों की सराहना की। ऐसे प्रयास समाज के बुद्धिजीवियों, साहित्यकारों एवं अन्य जागरूक लोगों द्वारा निरन्तर किए जाने चाहिए। उन्होंने मीडिया से भी यह अनुरोध किया कि वह समाज को जोड़ने वाले लोगों को आगे लाए।


नीरज जी ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि वर्तमान राज्य सरकार समाज के सभी धर्माे, वर्गाें के कल्याण के लिए अनेक कार्य कर रही है। इस मौके पर उ.प्र. हिन्दी संस्थान के कार्यकारी अध्यक्ष उदय प्रताप सिंह ने कहा कि यह पर्व समाज में समन्वयन स्थापित करता है।


कार्यक्रम में राजनैतिक पेंशन मंत्री राजेन्द्र चौधरी, कारागार मंत्री बलवंत सिंह रामूवालिया, मुख्यमंत्री के मुख्य सलाहकार आलोक रंजन, प्रमुख सचिव सूचना नवनीत सहगल, इस्काॅन के प्रतिनिधि मंत्रदास, छात्र-छात्राएं एवं अन्य गणमान्य लोग मौजूद थे। यह कार्यक्रम हेल्प यू एजुकेशनल एवं चैरिटेबल संस्था द्वारा आयोजित किया गया था।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top