Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

RBI ने कहा डिफाल्टरों के नाम सीक्रेट, कोर्ट ने पूछा आखिर क्यों ?

 Tahlka News |  2016-04-12 09:42:26.0

नई दिल्ली. बैंको से लोन ले कर डिफाल्टर हो जाने वालों के नाम सार्वजनिक न करने पर सुप्रीम कोर्ट और रिजर्व बैंक आमने सामने आ गए हैं. चीफ जस्टिसsupreem court ने कहा कि RBI बैंकों का रेगुलेटर भी है और उसे देखना होता है कि जनता का पैसा कहां जा रहा है. क्या आपके पास ऐसा कोई तरीका है कि आप बैंकों के गलत तरीके से लोन दिए जाने पर कार्रवाई हो सके.

सुप्रीम कोर्ट ने इंडियन बैंक एसोसिएशन और वित्त मंत्रालय को नोटिस जारी कर पूछा, कि क्या RBI को दी गई डिफाल्टर लिस्ट को सावर्जनिक किया जा सकता है. या नाम और राशि को गुप्त रखा जाना चाहिए. RBI ने कहा कि रिपोर्ट सावर्जनिक नहीं होनी चाहिए क्योंकि इससे देश की अर्थव्यवस्था पर असर पड़ सकता है.

कोर्ट ने सोमवार को एक सुनवाई में कहा कि लोग सरकारी बैंकों से हजारों करोड़ लोन लेकर डिफाल्टर हो जाते हैं और कंपनियों को बंद कर देते हैं और खुद दीवालिया घोषित कर देते हैं. वहीं, कई गरीब किसान हैं जो थोड़ा सा पैसा उधार लेते हैं और उनकी संपत्ति जब्त कर ली जाती है.

सुप्रीम कोर्ट ने RBI की रिपोर्ट देखने के बाद चिंता जताते हुए कहा, लोन की राशि बहुत बड़ी है. मैं हैरान हूं कि क्या ये राशि सावर्जनिक किए जा सकते हैं? RBI का कहना है कि ये राशि या नाम सावर्जनिक नहीं किए जा सकते. मामले की अगली सुनवाई 26 अप्रैल को होगी.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top