Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

यूपी सीएम की कुर्सी ही ऐसी है की जो बैठता है थोड़ा डोल जाता है : शिवपाल

 Vikas Tiwari |  2016-09-16 15:06:02.0

शिवपालतहलका न्यूज़ ब्यूरो 

लखनऊ. यूपी में चल रहे राजनितिक विवाद के बीच शिवपाल सिंह का यादव ने ETV के सीनियर एडिटर वृजेश मिश्रा को दिए एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में खुल कर बात की और विवाद के तमाम पहलुओं पर चर्चा की. बातचीत के दौरान शिवपाल यादव ने कहा की परिवार में सब कुछ ठीक है और अंतिम फैसला नेताजी यानि मुलायम सिंह यादव लेंगे. उन्होंने कहा कि किसी की इतनी औकात नहीं है की नेता जी की बात न मानें. कल से संगठन के काम शुरू करूँगा.

शिवपाल ने बताया कि वो इटावा में थे और लोग आके उन्हें बधाई देने लगे तब पता चला की उन्हें प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया है. 2 घंटे बाद नेताजी का फोन आया की तुम्हें प्रदेश अध्यक्ष बना दिया गया है. अखिलेश मुख्यमंत्री रहेंगे तो उनके पास समय नहीं होगा. नेता जी ने हमसे पूछा की तुम्हारें विभाग ले लिए गए है? जब उनसे पूछा गया कि विभाग लिए जाने के बाद उन्होंने मुख्यमंत्री से बात की तो शिवपाल ने कहा की उसके बाद मुख्यमंत्री से बात करना उचित नहीं समझा.


जब शिवपाल से पूछा गया की इस्तीफ़ा क्यों दिया इस पर शिवपाल ने बताया कि जब दो दिनों तक सीएम अखिलेश का फ़ोन नहीं आया तो मैने अखिलेश से मुलाकात की और पूछा क्या हुआ तो अखिलेश ने कहा कि कुछ नहीं-कुछ नहीं. मैनें कहा हम विभाग नहीं लेंगे तो अखिलेश ने कहा कि इस विभाग में काम नहीं है इसे आप रखे रहिए. तब हमने पूछा कि हम इसमें क्या करेंगे?. मेरी नेता जी से फोन पर बात हुई. मैनें बताया की मैं इस्तीफ़ा दे दूंगा तो नेता जी ने कहा दे दो. अध्यक्ष पद से इस्तीफ़ा देने के लिए कारण बत्ताते  हुए शिवपाल ने बताया कि अगर इस्तीफ़ा न देते तो सब को लगता कि सब कुछ अध्यक्ष पद की वजह से हो रहा है.

जब पूछा गया कि समस्या क्या है इस प्रशन के जवाब में शिवपाल ने कहा कि यूपी सीएम की कुर्सी ही ऐसी है की जो बैठता है थोडा डोल जाता है, उसमे अहम आ ही जाता है. लेकिन थोड़ी बुद्धि लगा कर काम करना चाहिए. अखिलेश को अभी और अनुभव लेना चाहिए. हमारे अनभव से सिखाना चाहिए.

प्रो. रामगोपाल के बयान के बारे में शिवपाल ने कहा की प्रोफेसर साहब ने सिर्फ मुख्यमंत्री से बात की. उन्हें मुझसे भी बात करनी चाहिए थी. मेरी अभी तक उनसे कोई बात नही हुई है. आगे बाताते हुए शिवपाल ने बताया कि अखिलेश से मेरे चाचा-भातीजें के रिश्तें अच्छे हैं. लेकिन बात यहाँ तक नहीं आनी चाहिए.

अमर सिंह इस सब के पीछे हैं, इस प्रशन पर शिवपाल ने कहा की मुझे नहीं लगता की ऐसा कुछ है अमर सिंह कभी भी सपा के अहित का कोई काम नहीं करेंगे. अमर सिंह को पार्टी में नेताजी से पूछ कर ही पार्टी में शामिल किया गया है और नेता जी की बात का हर कोई सम्मान करता है.

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top