Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

भाजपा को बोलते रहने की बीमारी : सपा

 Tahlka News |  2016-03-27 19:02:24.0

images
लखनऊ, 28  मार्च.  उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक द्वारा कैबिनेट मंत्री आजम खां की योग्यता पर सवाल उठाए जाने से खफा में सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी (सपा) ने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को तो सिर्फ बोलते रहने की बीमारी है।
सपा के प्रदेश प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने रविवार को कहा कि यह समझ से परे बात है कि भाजपा को आजम खां कैसे अयोग्य और विफल लग रहे हैं।

उन्होंने कहा कि विधानसभा में आजम खां का प्रबंधकीय कौशल काबिले तारीफ रहा है। अपने विभाग में उनकी जबर्दस्त पकड़ है। लेकिन भाजपा नेता हैं कि संवैधानिक पद पर रहते हुए भी प्रदेश के विकास में रोड़ा बनने और सांप्रदायिकता फैलाने की कोशिश करते हैं।


चौधरी ने कहा, "भाजपा को बस बोलते रहने की बीमारी है। मामला कोई हो, वे बीच में आकर जरूर दखलअंदाजी करने लगते हैं। नगर विकास मंत्री आजम खां भाजपा की आंखों में किस वजह से चुभते हैं, यह सभी जानते हैं।"

उन्होंने कहा कि आजम खां ने इलाहाबाद में अर्धकुं भ के प्रबंधन में जो कौशल दिखाया, उनकी प्रशंसा संत-महात्माओं ने भी की थी। विदेश में भी उसकी चर्चा हुई। 'भाजपा नेता' अगर विधानसभा की कार्यवाही देखने और पढ़ने की जहमत उठा पाते तो अच्छा होता।

सपा प्रवक्ता ने कहा, "आजम साहब के धर्मनिरपेक्ष चरित्र के सभी कायल हैं। विधानसभा के इसी बजट सत्र में भाजपा को छोड़कर सभी विपक्षी दलों ने एकमत से आजम खां की प्रशंसा की थी। इससे कई गलतफहमियां दूर हो सकती हैं।"

उन्होंने कहा, "आजम की सच बात कड़वी लग सकती है, लेकिन वह राज्यपाल या किसी भी संवैधानिक संस्था की गरिमा या मर्यादा को आघात नहीं पहुंचा सकते।"

चौधरी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में मुलायम सिंह यादव के नेतृत्व में आजम खां ने सांप्रदायिक ताकतों का कड़ा मुकाबला किया है। वह मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चल रहे हैं। (आईएएनएस/आईपीएन)

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top