Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

माली हालत सुधरने के बाद स्पाइसजेट के विस्तार पर ध्यान

 Tahlka News |  2016-04-24 09:44:13.0

download (2)
रोहित वैद
नई दिल्ली, 24 अप्रैल. माली हालत सुधरने के बाद किफायती विमानन कंपनी अब विमानों के बेड़े का विस्तार करने और उड़ानों की संख्या बढ़ाने पर ध्यान देगी। यह बात कंपनी के अध्यक्ष अजय सिंह ने कही।

कंपनी दिसंबर 2014 में बंद होने के कगार पर आ गई थी और जनवरी 2015 में इसकी बाजार हिस्सेदारी 9.4 फीसदी थी। इस साल मार्च में यह हिस्सेदारी बढ़कर 12.8 फीसदी हो गई है। कंपनी कुछ अन्य सेवाएं भी शुरू करेगी, जिसमें डोर-टू-डोर कार्गो और खुद तथा अन्य विमानन कंपनियों के लिए ग्राउंड हैंडलिंग शामिल है।


सिंह ने आईएएनएस से कहा, "हमारी स्थिति अच्छी चल रही है। गत 10 महीनों में हमारा लोड फैक्टर 92 फीसदी से अधिक था, जो देश में सर्वाधिक है। गत छह महीने में देश में सबसे कम यात्रियों ने हमारी बुकिंग रद्द की।"

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी-दिल्ली) के पूर्व छात्र 50 वर्षीय सिंह ने कहा कि कुछ विमानों का लीज जल्द ही समाप्त होने वाला है। इसलिए जरूरी संख्या में विमान किराये पर लिए गए हैं, ताकि उड़ानें रद्द न करनी पड़े।

सिंह ने कोर्नेल विश्वविद्यालय से प्रबंधन में परास्नातक किया हुआ है।

अभी कंपनी ने कुछ विमान चालक दल सहित किराये पर लिए हैं। अगले महीने के अंत तक इसकी जगह सिर्फ विमान ही किराये पर लिए जाएंगे। सिंह ने कहा, "वेटलीज मई-जून में खत्म हो जाएगा। उसकी जगह ड्राई लीज ले लेगा। ड्राई लीज से बचत होगी।"

वित्तीय संकट में पहुंचने से पहले 2014 में कंपनी के बेड़े में 55 विमान थे, जो अब 43 रह गए हैं।

गंतव्यों की संख्या बढ़ाने के सवाल पर सिंह ने कहा कि वह उड़ानों की संख्या बढ़ाने पर अधिक ध्यान देंगे।

कंपनी अभी 40 गंतव्यों के लिए रोजाना 298 उड़ानों का संचालन करती हैं। इन गंतव्यों में 34 घरेलू और छह अंतर्राष्ट्रीय हैं। (आईएएनएस)|

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top