Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

STING: 3 वकीलों ने की थी कन्हैया की पिटाई, कबूला सच

 Tahlka News |  2016-02-23 06:01:04.0

a1तहलका न्यूज ब्यूरो
नई दिल्ली, 23 फरवरी. जेएनयू में देश विरोधी नारे लगाने के आरोपी स्टूडेंट लीडर कन्हैया कुमार की पटियाला हाउस कोर्ट कॉम्प्लेक्स में 15 फरवरी को कुछ वकीलों ने पिटाई की थी। पिटाई के आरोपी एक वकील के मुताबिक, कन्हैया को उन्होंने पुलिस कस्टडी में भी तीन घंटे तक पीटा था। विक्रम चौहान नाम के इस वकील को एक चैनल के स्टिंग ऑपरेशन में यह कहते सुना गया कि हमने कन्हैया को इतना पीटा था कि उसने पैंट में यूरीन कर दी थी।


स्टिंग में क्या दिखाया गया
स्टिंग में यशपाल कहते हैं कि हमने कन्हैया को तीन घंटे तक मारा। उसके पैरों को निशाना बनाया। हमने उससे भारत माता की जय के नारे लगवाए। पिटाई के चलते उसने पैंट में ही पेशाब तक कर दी थी। चौहान के साथी वकील यशपाल ने कहा कि पेट्रोल बम लेकर जाऊंगा। मैं उसे छोड़ने वाला नहीं हूं, भले ही मुझ पर मर्डर केस दर्ज हो जाए। यशपाल के मुताबिक, अगर गिरफ्तार किया गया तो बेल नहीं लूंगा। उस सेल में जाना चाहूंगा, जहां कन्हैया को रखा गया है। मैं एक-दो दिन वहीं रहना चाहूंगा और वहीं कन्हैया की पिटाई करूंगा।


यशपाल ने कहा- पत्रकारों को पीटा था
यशपाल ने ये भी माना कि उसने जर्नलिस्ट्स और जेएनयू प्रोफेसरों की पिटाई भी की थी। उसने कहा कि हम केवल इतना जानते हैं कि अगर आपको इस देश में रहना है तो देश के बारे में ही सोचना होगा। कन्हैया की पिटाई के वक्त पुलिस ने हमारा पूरा सपोर्ट किया। यशपाल के मुताबिक, कुछ पुलिसवालों ने उससे कहा कि वे भी कन्हैया को पीटना चाहते हैं लेकिन वर्दी में होने की वजह से ऐसा नहीं कर पाए। विक्रम चौहान ने कहा कि खुदीराम बोस 17 और भगत सिंह 23 साल की उम्र में शहीद हो गए थे। और इसलिए हमने जो भी किया वो सही था।


कौन है विक्रम सिंह चौहान
दिल्ली हाईकोर्ट में वकील है। जेएनयू के स्टूडेंट्स यूनियन के प्रेसिडेंट कन्हैया की 12 फरवरी को पटियाला कोर्ट में पेशी के दौरान हुए हंगामे के बाद वह सुर्खियों में आया। इस हंगामे के दौरान भी कुछ वकीलों ने टीचर्स, स्टूडेंट्स और जर्नलिस्ट्स पर हमला किया था। आरोप है कि विक्रम इसकी अगुआई कर रहा था।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top