Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

आज़मगढ़ के डीएम सुहास ने चीन में लहराया तिरंगा

 Vikas Tiwari |  2016-11-28 05:24:29.0

dm-azamgadh
तहलका न्यूज़ ब्यूरो

आजमगढ़. जिलाधिकारी सुहास एलवाई अपने बेहतर कामों की वजह से जाने जाते हैं. एक बेहतर अधिकारी के जिले में खासे चर्चित सुहास एलवाई के नाम एक और नई उपलब्धि जुड़ी है. चीन की राजधानी बीजिंग में खेली जा रही पैराबैडमिंटन चैंपियनशिप के क्वाटर फाइनल मुकाबले में जीत दर्ज कर आजमगढ़ के जिलाधिकारी सुहास एलवाई और उनके जोड़ीदार उमेश विक्रम कुमार युगल वर्ग के सेमीफाइनल में अपनी जगह पक्की कर ली है.


सेमीफाइनल में उनका मुकाबला मुहम्‍मद हुजैरी अब्‍दुल मलिक और वाकरी उमर से होगा. बता दें कि बीजिंग में इस समय एशियन पैरा बैडमिंटन चैंपियनशिप खेली जा रही है. जिसमें आजमगढ़ के जिलाधिकारी सुहास एलवाई सहित देश के 26 खिलाड़ी भारत का प्रतिनिधित्‍व कर रहे है.


इसमें यूपी से मात्र दो खिलाड़ी शामिल हैं. सुहास एलवाई के अलावा लखनऊ के अबु हुबैदा को इस प्रतियोगिता में शामिल होने का मौका मिला है. गुरूवार को खेले गये युगल के पहले मुकाबले में जिलाधिकारी सुहास एलवाई और उमेश विक्रम ने मैच जीत क्‍वाटर फाइनल में जगह बनाई थी.


शुक्रवार को खेले गये क्‍वार्टर फाइनल में इस जोड़ी ने युवान सुंग और सावो वाउ की जोड़ी को पराजित कर सेमी फाइनल में जगह पक्‍की की.


अब शनिवार को इस सुहास एलवाई और उमेश विक्रम की जोड़ी मुहम्‍मद हुजैरी अब्‍दुल मलिक और बाकरी उमर से सेमीफाइनल में भिड़ेगी. जिलाधिकारी की इस सफलता से जिले के लोग गदगद है और इसे आजमगढ के लिए बड़ी उपलब्धि मान रहे हैं.


सीएम अखिलेश ने ट्विटर पर दी बधाई


डीएम सुहास की इस शानदार जीत के बाद सीएम अखिलेश ने ट्विटर पर उनको बधाई दी और कहा कि उन्होंने प्रदेश का मान बढ़ाया है.


https://twitter.com/CMOfficeUP/status/802778177689026560

पत्नी रितु ने भी स्वर्णिम सफलता की खुशी शब्दों में नहीं बयां कर पाई

सुहास की पत्नी रितु ने बताया कि सुहास इस टूर्नमेंट के लिए पिछले डेढ़ माह से तैयारी कर रहे थे. दस बजे से पहले वह बैडमिंटन की प्रैक्टिस करते थे. जिस दिन छुटटी होती थी, उस दिन सुबह और शाम को भी अभ्यास में कोई कसर नहीं छोड़ते.


जिस अंतरराष्ट्रीय टूर्नमेंट में वह गोल्ड मेडल जीते, उसी टूर्नमेंट में कुछ साल पहले वह क्वार्टर फाइनल पहुंचकर हार गए थे. इस हार के बाद सुहास ने जीत का लक्ष्य तय करके यह कामयाबी हासिल की.


रितु जहां पति की इस स्वर्णिम सफलता की खुशी शब्दों में नहीं बयां कर पा रही हैं, वहीं छह साल की बेटी शान्वी कहती हैं, हम भी ओलिंपिक में जाएंगे, पापा की तरह पदक लाएंगे. दो साल का बेटा बियान डीएम आवास पर फैली खुशियां और बधाई देने वालों की कतार देखकर प्रसन्नचित है.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top