Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

दुर्भाग्य लेकिन सच, भारत के पड़ोस में है आतंकवाद की जन्मभूमि: PM मोदी

 Abhishek Tripathi |  2016-10-16 08:12:49.0

brics2016_pm_modiतहलका न्यूज ब्यूरो
नई दिल्ली. हमारे पड़ोसी देश में ही आतंकवाद और आतंकवादी पाले-पोसे जा रहे हैं। आतंकवाद की जन्मभूमि हमारे पड़ोस में ही है। ये बातें पीएम नरेंद्र मोदी ने ब्रिक्स देशों के राष्ट्राध्यक्षों से बात करते हुए कहीं। पीएम मोदी ने ये भी कहा कि ऐसा होना हमारे लिए दुर्भाग्यपूर्ण है, लेकिन आज की यही हकीकत है।


पीएम मोदी ने और क्या कहा
1. पीएम मोदी ने कहा कि इस वक्त सबसे बड़ा खतरा आतंकवाद से है।
2. दुनियाभर में जितने टेरर मॉड्यूल्स हैं, वे उस देश से जुड़े हुए हैं। ये केवल आतंकियों को अपनी जमीन पर शरण ही नहीं देता बल्कि उन्हें पोषित करता है और उस विचारधारा को बढ़ावा देता है। आतंकवाद को सपोर्ट करने वालों को सबक सिखाना होगा।

3. आतंकवाद को राजनीतिक फायदा हासिल करने के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है। हम इस मानसिकता का विरोध करते हैं।
4. पीएम मोदी ने कहा कि आतंकवाद से पूरा पश्चिम एशिया, यूरोप और साउथ एशिया प्रभावित है।
5. पीएम मोदी ने कहा कि ब्रिक्स दिशा देने में अहम रोल निभा सकता है। ये सदस्य देशों को टारगेट पूरा करने में मददगार साबित होगा।


ब्रिक्स को एक सुर में बोलना चाहिए
पीएम मोदी ने पाकिस्तान की ओर इशारा करते हुए कहा कि ब्रिक्स को इस खतरे के खिलाफ एक सुर में बोलना चाहिए और उसके खिलाफ लड़ाई लड़ने के लिए व्यावहारिक तौर पर एक-दूसरे का सहयोग करना चाहिए।


पाकिस्तान गद्दार है
वहीं, बलोच फ्रीडम मूवमेंट कार्यकर्ता नाएला कादरी बलोच ने कहा कि सार्क नेताओं की बैठक में पीएम मोदी के दिए भाषण की तारीफ की। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान गद्दार है जो यूरोप से पैसा लेता है। अमेरिका से आतंकवाद से लड़ने के लिए पैसा लेता है लेकिन उसकी जगह आतंकवाद को पालता है। यह समय है कि विश्व आज इस बात को समझे और अगर कोई पाकिस्तान को फंड देता है तो उसे जवाबदेह ठहराया जाए।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top