Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

देश के इन 81 शहरों पर मंडरा रहा है भूकम्प का खतरा

 Sabahat Vijeta |  2016-04-15 17:32:00.0

india-nepal-china-earthquakeनई दिल्ली , 15 अप्रैल. पिछले साल नेपाल में आये विनाशकारी भूकम्प का असर भारत पर भी पड़ा था. उस भूकम्प ने हर किसी को दहलाकर रख दिया था. नेपाल में भूकम्प आने के बाद से हर थोड़े दिन के बाद कहीं न कहीं भूकम्प के झटके लग ही रहे हैं. भूकम्प आता है तो लोगों की आँखों से नींद उड़ जाती है.


भूकम्प के लिहाज़ से देश के सबसे ज्यादा संवेदनशील माने जाने वाले 81 शहरों की जो लिस्ट सामने आई है उसने लोगों को हिलाकर रख दिया है.


केन्द्र सरकार ने 16 मार्च को जो नए डाटा जारी किए गए हैं उसमें 81 नए शहरों को शामिल किया गया है. इस नई लिस्ट के साथ ही अब देश के कुल 107 शहर खतरनाक जोन में शामिल हो गए हैं.


वर्ष 2002 में असम की राजधानी गुवाहाटी और जम्मू कश्मीर की राजधानी श्रीनगर को ही सबसे ज्यादा भूकम्प के खतरे वाले ज़ोन में माना जाता था. अब पूरे नॉर्थ ईस्ट को ही भूकम्प के लिए सबसे ज्यादा खतरनाक बताया गया है.


हर कोई जानना चाहता है कि कौन-कौन से शहर इस लिस्ट का हिस्सा हैं. जम्मू कश्मीर, श्रीनगर और गुवाहाटी तो पहले ही संवेदनशील थे लेकिन अब अमृतसर, जालंधर, अंबाला, पटियाला, लुधियाना, भटिंडा, मंडी, शिमला, देहरादून, रुड़की, नैनीताल, अल्मोाड़ा, कानपुर, पीलीभीत, लखनऊ, बहराइच, बुलंदशहर, आगरा, मेरठ, झांसी, दिल्ली्, बीकानेर, जयपुर, जोधपुर, उदयपुर, अजमेर, कोटा, इंदौर, भोपाल, जबलपुर, सिरोंज, भुज, अहमदाबाद, वड़ोदरा, भावनगर, राजकोट, काकरापारा, सूरत, तारापुर, पुणे, मुम्बई, भिवंडी, नासिक, उस्मानाबाद, शोलापुर, गोवा, पणजी, बेंगलुरु, धारवाड़, बेलगाम, कारवार, बीजापुर, मैंगलोर, कोच्चि, कोझीकोड, त्रिवेंद्रम, चेन्नई, कोयंबटूर, सेलम, तिरुचिरापल्ली , मदुरै, हैदराबाद, विजयवाड़ा, विशाखपट्टनम, ओड़िसा, कटक, भुवनेश्वर, कोलकाता, दुर्गापुर, आसनसोल, बर्दवान, दार्जलिंग, गैंगटोक, रांची, जमेशदपुर, धनबाद, बोकारो, पटना, बरौनी, दरभंगा, गया, असम, तेजपुर, जोरहाट, सादिया, नागालैंड, कोहिमा, मणिपुर, और इंफाल सबसे संवेदनशील शहर हैं.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top