Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

CM अखिलेश का वादा, मुख्तार अंसारी की सपा में कोई जगह नहीं!

 Abhishek Tripathi |  2016-06-25 07:45:35.0

akhilesh_yadavतहलका न्यूज ब्यूरो
लखनऊ. सीएम अखिलेश यादव ने माफिया डॉन मुख्तार अंसारी की पार्टी कौमी एकता दल की सपा में विलय की सभी संभावनाओं को एक ओर से खारिज कर दिया। अखिलेश ने कहा कि ये मेरा वादा है कि मुख्तार की पार्टी का सपा में कतई विलय नहीं होगा। सीएम अखिलेश ने ये बातें लखनऊ में एक टीवी चैनल के प्रोग्राम में कहीं।


कौमी एकता दल का सपा में विलय होने से सीएम अखिलेश यादव बेहद नाराज बताए जा रहे हैं। सूत्रों का कहना है कि इस मसले पर उनसे पार्टी के कई वरिष्ठ नेताओं ने मंगलवार से अब तक या तो मुलाकात की है या फोन पर उनसे बात की है। सभी अखिलेश को मनाने और समझाने की कोशिश में हैं, लेकिन सपा के वरिष्ठ सूत्र बताते हैं कि एकता पार्टी के सपा में विलय को सीएम किसी भी हाल में नजरअंदाज करने की मुद्रा में नहीं हैं।


साल 2012 में हुए विधानसभा चुनाव के समय डीपी यादव को टिकट न देकर अखिलेश ने जो लोकप्रियता बटोरी थी उस पर मुख्तार की पार्टी के विलय ने गहरा आघात किया है। हालांकि, शिवपाल सिंह यादव ने मुख्तार अंसारी का नाम न लेते हुए कहा कि वे सपा में शामिल नहीं हुए हैं, लेकिन वरिष्ठ राजनीतिक विश्लेषक राजेन्द्र कुमार कहते हैं, कि जिस कौमी एकता दल से मुख्तार खुद विधायक हैं, जब उसका विलय सपा में हो गया तो वे सपा से बाहर कैसे हो सकते हैं?


बहरहाल, कौमी एकता दल के सपा में विलय का लाभ मुख्तार अंसारी को तत्काल पहुंचा है और उन्हें मंगलवार की देर शाम आगरा जेल से लखनऊ जेल स्थानांतरित कर दिया गया। कौमी एकता दल के सपा में विलय के सवाल पर बीजेपी के वरिष्ठ नेता विजय बहादुर पाठक कहते हैं कि इस मामले में सीएम को नाराज दिखाकर जनता को गुमराह करने की कोशिश की जा रही है। ऐसा ही संदेश रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया को मंत्री बनाने के दौरान भी देने की कोशिशें हुई थीं। उस वक्त भी कहा गया था कि अखिलेश इस फैसले से खुश नहीं हैं।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top