Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

यूपी विधानसभा चुनाव : इस फिल्म स्टार ने बनाई राजनीतिक पार्टी, सभी सीटों पर देंगे चुनौती

 Sabahat Vijeta |  2016-10-27 13:14:46.0

rajpal

तहलका न्यूज़ ब्यूरो


लखनऊ. फ़िल्मी दुनिया में अभिनय के जौहर दिखाने के बाद प्रसिद्ध हास्य अभिनेता राजपाल यादव अब राजनीति के दंगल में जोर आज़माइश के लिए उतर रहे हैं. सर्व समभाव पार्टी के पंचरंगे झंडे के साथ राजपाल यूपी की सभी सीटों पर जीत की संभावनाएं तलाशने निकलेंगे. एक महीने के भीतर वह यह तय कर लेंगे कि वह कितनी सीटों पर मजबूती के साथ चुनाव लड़ सकते हैं. यह तय होने के बाद वह यूपी में अपनी पार्टी के प्रत्याशियों की लिस्ट के साथ फिर मुखातिब होंगे. राजपाल यादव आज यूपी प्रेस क्लब में पत्रकारों से मुखातिब थे.


राजपाल यादव की प्रेस कांफ्रेंस के लिए यूपी प्रेस क्लब में सजे मंच पर रेहल पर देश के संविधान के अलावा गीता, क़ुरान, बाइबिल और गुरु ग्रन्थ साहिब सजे थे. अगरबत्तियां जल रही थीं. जब हाल पूरा भर गया तब एक कमरे से राजपाल यादव सर्व समभाव पार्टी के अध्यक्ष और सचिव के साथ पत्रकारों के बीच पहुंचे.


राजपाल यादव ने कहा कि एक अभिनेता के तौर पर बहुत काम किया है. अपने घर-परिवार के लिए सब कुछ कर चुका हूँ, गाड़ी खरीद चुका हूँ. अब समाज के लिए कुछ करना चाहता हूँ. उन्होंने कहा कि बड़े भाई श्रीपाल सिंह यादव और छोटे भाई राजेश यादव 15 साल से राजनीति के ज़रिये समाज सेवा कर रहे हैं. उन्हीं की सलाह पर मैंने सर्व समभाव पार्टी का स्टार प्रचारक बनने का फैसला किया है.


राजपाल यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश देश का सबसे बड़ा प्रदेश है. यहाँ विभिन्न क्षेत्रों की तमाम विभूतियाँ जन्मी हैं. बावजूद इसके यह प्रदेश इतना कैसे पिछड़ गया इस पर सोचने की ज़रुरत है. उन्होंने कहा कि इस प्रदेश में कहीं इतना विकास हुआ कि मेट्रो चलने जा रही है और कहीं की हालत यह है कि हालात 1935 जैसे हैं.


उन्होंने कहा कि विवाद नहीं संवाद की राजनीति में अपने को आगे बढ़ाएंगे. अपनी पार्टी के माध्यम से लोगों की सेवा करूंगा. उन्होंने कहा कि यह राजनीतिक दल सत्तामुखी नहीं, स्वार्थमुखी नहीं, बल्कि समाजोन्मुखी होगा. उसके लिए प्रतिबद्ध रहूँगा. हास्य अभिनेता राजपाल यादव ने कहा कि यह पार्टी चुनावी मौसम का मेंढक नहीं है, चुनाव काल एक सही समय है जब हम समाज के समक्ष अपनी भावना लेकर हाजिर हों और समाज को यह विचार करने के लिए प्रेरित करें कि वे सार्थक-सकारात्मक, रचनात्मक विकल्प के बारे में सूचें. यह दीर्घकालिक अभियान की यह शुरूआत है. हम आंदोलन का फैशन चला कर सत्ता हासिल करने की जुगत करने वाली जमात नहीं हैं. हम आपस में सीधा संवाद करने, पीड़ा को साझा करने तथा समस्याओं का हल तलाशने और विवाद समाप्त करने की दिशा में जूझने वाली जमात हैं.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top