Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

मोदी ने उच्च स्तरीय बैठक में बनाया पाकिस्तान के खिलाफ ACTION PLAN

 Vikas Tiwari |  2016-09-19 11:20:28.0

नरेंद्र मोदीतहलका न्यूज़ ब्यूरो 

नई दिल्ली :  कश्मीर के  उरी रविवार को हुए आतंकी हमले के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने  सोमवार को मंत्रियों और अधिकारियों के साथ उच्च स्तरीय बैठक की. इस बैठक में गृह मंत्री राजनाथ सिंह, रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर, वित्त मंत्री अरूण जेटली, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल, सैन्य प्रमुख जनरल दलबीर सिंह सुहाग के अलावा कई वरिष्ठ अधिकारियों ने इस बैठक में हिस्सा लिया.

बैठक में पकिस्तान के खिलाफ सकत कार्रवाई करने की बात कही गई है. सूत्रों के मुताबिक यूरी हमले में पाकिस्तान का हाथ होने के सबूत सामने आए हैं. आतंकियों के कब्जे से जीपीएस ट्रैकर मिला है जिसका स्टार्टिंग प्वाइंस पाकिस्तान है.  इसके अलावा इनके पास से पश्तो साहित्य और पाकिस्तानी सेना के चिह्न लगे हथियार बरामद हुए हैं.  उरी में ब्रिगेड मुख्यालय पर हुए आतंकवादी हमले के मद्देनजर शीर्ष सुरक्षा अधिकारियों ने प्रधानमंत्री को कश्मीर घाटी में मौजूदा जमीनी हालात की जानकारी दी. इस बैठक के बाद विदेश राज्य मंत्री वीके सिंह ने कहा कि किसी भी तरह का फैसला भावना में बहकर नहीं लिया जाएगा और इस बारे में प्रधानमंत्री ने कहा है कि कोई न कोई फैसला किया जाएगा.  भारत संयुक्त राष्ट्र में उरी अटैक को प्रमुखता से उठायेगा.


इसे भी पढ़े: एक्‍शन में शिवपाल, अखिलेश के करीबियों को पार्टी से किया बर्खास्‍त

बैठक के दौरान चर्चा हई कि सरकार के लिए देश की आंतरिक सुरक्षा सबसे बड़ी प्राथमिकता है. सीमावर्ती इलाकों में पाकिस्तान के जिन पोस्ट से घुसपैठ को बढ़ावा मिला है या सीजफायर का उल्लंघन किया गया, उनको मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा. इसके साथ की गृह मंत्रालय जम्मू-कश्मीर पर सीमा पर सुरक्षा को पुख्ता करने के लिए ऑपरेशन चलाएगी. पाकिस्तान के साथ कूटनीतिक और आर्थिक मोर्चों पर भी आक्रामक रवैया अपनाया जाएगा.

उरी हमले के पीछे एक बार फिर पाकिस्तान का हाथ होने के साफ संकेत मिल रहे हैं. प्रधानमंत्री आवास पर चल रही बैठक में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजि‍त डोभाल समेत गृह मंत्री राजनाथ सिंह, वित्त मंत्री अरुण जेटली, मनोहर पर्रिकर के अलावा रॉ चीफ के साथ ही कैबिनेट कमेटी ऑफ सिक्योरिटी के सभी सदस्य मौजूद रहे. जबकि विदेश मंत्री या उस मंत्रालय से कोई अध‍िकारी मीटिंग में मौजूद नहीं था.

इसे भी पढ़े: शिवपाल के एक्‍शन के बाद सपा में इस्‍तीफे की बाढ़, अखिलेश के करीबी छोड़ रहे हैं पार्टी
इस आतंकी हमले के पीछे आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के हैं. इसी आतंकी संगठन ने 8 महीने पहले पठानकोट एयरबेस पर हमला बोला था. रक्षा विशेषज्ञ पीके सहगल ने बताया कि पठानकोट हमले से हमने सीखा है, लेकिन उतना नहीं सीखा, वो 10 बार हमला करते हैं कभी न कभी एक बार कामयाब हो जाते हैं. हमें इजरायल बनना होगा.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top