Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

US ने पीएम के विचारों को दिया Modi Doctrine का नाम

 Anurag Tiwari |  2016-06-11 08:27:57.0

moi in us congressतहलका न्यूज़ ब्यूरो

वाशिंगटन. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का हालिया अमेरिकी दौरा कई मायनों में ऐतिहासिक रहा. यहाँ तक कि प्रेसिडेंट ओबामा के एडमिनिस्ट्रेशन ने भी इसे ऐतिहासिक बताया है। ओबामा एडमिनिस्ट्रेशन का मानना है कि इस दौरे से दोनों देशों के बीच हिचकिचाहट का दौर खत्म हो गया। साथ ही उसने भारत-अमेरिका संबंधों पर प्रधानमंत्री के नजरिये को ‘मोदी सिद्धांत’ का नाम दिया है।

मोदी ने ज्वाइंट सेशन पहले इसका मसौदा तैयार

अमेरिकी सहायक विदेश मंत्री (दक्षिण एवं मध्य एशिया) निशा देसाई बिस्वाल ने बताया कि इस हफ्ते पीएम की यात्रा और इससे पूर्व में चल रही कोशिशों से स्पष्ट और प्रभावशाली नजरिया सामने आया है उन्होंने बताया कि इसे प्रधानमंत्री मोदी ने कांग्रेस के ज्वाइंट सेशन  से पहले तैयार किया था। निशा बिस्वाल ने कह कि वे इसे मोदी सिद्धांत का नाम देती हैं जो दोनों देशों के साझा हितों के बीच समानता लेकर आया। निशा बिस्वाल ने यह विचार पीएम मोदी के दौरे के बाद आयोजित ‘मोदी यात्रा के सुरक्षात्मक एवं रणनीतिक परिणाम’ विषय पर चर्चा के दौरान रखे। इसका आयोजन अमेरिकी थिंक टैंक ‘हेरीटेज फाउंडेशन’ और नई दिल्ली के संगठन ‘द इंडिया फाउंडेशन’ ने किया था।

मोदी का साहसिक नजरिया

निशा ने कहा कि कैपिटील हिन् में यूएस कांग्रेस के ज्वाइंट सेशन में मोदी ने अपने भाषण में भारत-अमेरिका की साझीदारी के साहसिक नजरिये को अमेरिकी सीनेटरों के सामने रखा। यह एशिया से लेकर अफ्रीका और हिंद महासागर से लेकर प्रशांत महासागर तक शांति, समृद्धि एवं स्थिरता का रास्ता खोल सकता है। इसके साथ ही व्यपार के लिए समुद्री मार्गों की सुरक्षा और नौवहन की स्वतंत्रता सुनिश्चित करने में मदद कर सकता है। मोदी डॉक्टरीन कहता है कि आपसी सहमति से बनाई गई सुरक्षा व्यवस्था की गैर-मौजूदगी से अनिश्चितता का महाल पैदा होता है।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top