Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

डिजिटल हुई यूपी विधानसभा, घर बैठकर जनता पढ़ेगी सवाल-जवाब

 Girish Tiwari |  2016-08-22 08:21:29.0

2016_7$largeimg217_Jul_2016_085137987


तहलका न्‍यूज ब्‍यूरो
लखनऊ: यूपी विधानसभा ऑनलाइन होने वाली उत्तर भारत की पहली विधानसभा बन गई है। सीएम अखिलेश यादव ने सोमवार को सेंट्रल हॉल में 'विधानसभा कार्यवाही' डिजिटलाइजेशन का उद्घाटन किया। इसके बाद 25 साल की 'विधानसभा कार्यवाही' अब ऑनलाइन हो गई है।


akhilesh


पहले दौर में सदन में पूछे जाने वाले सवालों को ऑनलाइन करने की व्यवस्था कर दी गयी है। सदन की कार्यवाही भी अब ऑनलाइन हो गयी है। 1992 के बाद की सभी कार्यवाहियां अब डिजिटल होंगी। विधानसभा में कागजो का दौर अब गुजरे ज़माने की बात हो चुुका है। नए लुक में विधानसभा पूरी तरह पेपरलेस होने जा रही है।


सीएम अखिलेश यादव की पहल के बाद और विधानसभा के प्रमुख सचिव प्रदीप दुबे के कड़ी मेहनत के बाद विधानसभा में सवालों से लेकर वोटिंग प्रोसीजर तक सब कुछ ऑनलाइन किया गया है। डिजिटलाइजेशन होने के बाद अब सदन में विधायकों के सवाल-जवाब को ऑनलाइन देखा जा सकेगा।


डिजिटलीकरण के अलावा वर्ष 1952 से अब तक सदन की कार्यवाई का पूरा ब्योरा जल्द ही वेबसाइट पर उपलब्ध होगा। प्रमुख सचिव (विधानसभा) प्रदीप कुमार दुबे ने कहा कि विधानसभा सचिवालय में दोनो सदनों के सदस्यों का डिजीटल हस्ताक्षर लेगा। हर सदस्य के हस्ताक्षर का विशिष्ट पासवर्ड जारी किया जाएगा जिसके जरिए विधायक सदन में पूछे जाने वाले सवालों को अपलोड कर सकेंगे और उनके उत्तर देख सकेंगे।


दो दशक पुरानी ध्वनि प्रणाली के अलावा सदन में हर विधायक की मेज पर इलेक्ट्रानिक वोटिंग की नई प्रणाली स्थापित की जाएगी। महत्वपूर्ण विधेयकों और प्रस्तावों में वोट के जरिए सदस्यों की सहमति लेने के लिए नयी प्रणाली का उपयोग किया जायेगा।


akhilesh 2


जानकारों की माने तो सीएम अखिलेश के इस फैसले के बाद विधानसभा में माइक तोड़कर और बिल फाड़कर हंगामा करने जैसी घटनाओं का होना एकदम बंद हो जाएगा। इससे पहले ऐसी घटनाओं ने देश भर में संसदीय परंपराओं को गहरी चोट पहुंचाई है। लेकिन अब ना तो किसी को हंगामा करने को कागज मिलेगा ना ही माइक का सहारा वो ले सकेंगे।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top