Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

कौशल विकास मिशन में उत्तर प्रदेश सर्वश्रेष्ठ

 Sabahat Vijeta |  2016-03-25 14:54:06.0


  • मुख्यमंत्री को मिला कौशल विकास मिशन के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने का पुरस्कार 

  • राज्य सरकार प्रदेश के युवाओं में कौशल विकास करके उन्हें रोजगार उपलब्ध कराने की दिशा में लगातार कार्य कर रही है: मुख्यमंत्री

  • कौशल विकास मिशन के कारण अब प्रदेश के युवा आत्मनिर्भर होकर जीविकोपार्जन करते हुए समाज की बेहतरी के लिए रचनात्मक सहयोग प्रदान कर रहे हैं


award-cmलखनऊ, 25 मार्च. मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश के युवाओं में कौशल विकास करके उन्हें रोजगार उपलब्ध कराने की दिशा में लगातार कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश की समाजवादी सरकार ने राज्य के युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराने की दिशा में इस मिशन के महत्व को पहले ही पहचान लिया था, इसलिए इस पर विशेष बल दिया गया। उन्होंने पुरस्कृत किए जाने पर राज्य में कौशल विकास के लिए काम करने वाले सभी अधिकारियों/कर्मचारियों को बधाई दी।


इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने राज्यमंत्री व अधिकारियों की प्रशंसा की तथा विभाग को बधाई देते हुए कहा कि प्रदेश सरकार युवाओं को रोजगार प्रदान करने के लिए पूरी तरह कटिबद्ध है, तथा उ.प्र. कौशल विकास मिशन की स्थापना कर लाखों युवाओं को रोजगार के अवसर उपलब्ध करये गये हैं। इसके साथ ही प्रदेश के औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थाओं में आजादी के बाद 60 सालों में जितनी सीटें सृजित की गयी थी उससे अधिक सीटें प्रदेश सरकार ने मात्र 4 सालों में सृजित कर इतिहास रचा है। इन प्रशिक्षण संस्थानों से उद्योगों की स्थापना एवं संचालन हेतु आवश्यक प्रशिक्षित मानव शक्ति उपलब्ध हो सकेगी साथ ही प्रदेश के युवाओं को सम्मानजनक वेतन पर कार्य मिल सकेगा।


मुख्यमंत्री ने यह विचार आज अपने सरकारी आवास 5, कालिदास मार्ग पर उत्तर प्रदेश को कौशल विकास मिशन के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने पर मिले राष्ट्रीय पुरस्कार को प्राप्त करते समय व्यक्त किए। गौरतलब है कि पिछले दिनों नई दिल्ली में आयोजित एक कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश को राष्ट्रीय स्तर पर पुरस्कृत किया गया था। आज यह पुरस्कार कौशल विकास एवं व्यावसायिक शिक्षा राज्य मंत्री अभिषेक मिश्रा तथा सचिव व्यावसायिक शिक्षा भुवनेश कुमार ने मुख्यमंत्री को सौंपा।


श्री यादव ने कहा कि राज्य सरकार की यह सोच है कि यदि प्रदेश के नौजवानों को हुनरमंद बनाकर उन्हें रोजगार के अवसर उपलब्ध करा दिए जाएं, तो देश एवं प्रदेश तरक्की के मामले में दुनिया के अन्य देशों को पीछे छोड़ सकते हैं। राज्य सरकार कौशल विकास के माध्यम से प्रदेश के नौजवानों को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के हर सम्भव प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा संचालित उत्तर प्रदेश कौशल विकास मिशन से निजी क्षेत्र भी जुड़ा है, जो युवाओं को बड़ी संख्या में रोजगार के अवसर उपलब्ध करा रहा है।


मुख्यमंत्री ने प्रदेश की विशाल युवा आबादी का जिक्र करते हुए कहा कि राज्य सरकार द्वारा कौशल विकास के माध्यम से इन्हें हुनरमंद बनाने की दिशा में लगातार कार्य किया जा रहा है, जिसके अच्छे परिणाम मिलने लगे हैं। उन्होंने कहा कि कौशल विकास मिशन के कारण अब प्रदेश के युवा आत्मनिर्भर होकर अपना जीविकोपार्जन करते हुए समाज की बेहतरी के लिए रचनात्मक सहयोग प्रदान कर रहे हैं। उन्होंने उत्तर प्रदेश कौशल विकास मिशन द्वारा किए जा रहे कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि सूचना प्रौद्योगिकी के इस युग में प्रदेश के नौजवानों की प्रगति के लिए यथासम्भव अधिक से अधिक निजी क्षेत्र से सम्पर्क स्थापित कर रोजगार उपलब्ध कराने का प्रयास किया जाना चाहिए।


उल्लेखनीय है कि गत मंगलवार को ऐसोचैम द्वारा दिल्ली में आयोजित ‘समिट कम अवाड्र्स आॅन स्किलिंग इण्डिया-द वे फारवर्ड’ कार्यक्रम में केन्द्रीय कौशल विकास एवं उद्यमिता राज्य मंत्री राजीव प्रताप रूडी ने कौशल विकास के क्षेत्र में उत्तर प्रदेश के कार्यों की तारीफ की और देश भर में उत्तर प्रदेश को सर्वश्रेष्ठ राज्य चुना, जिसके आधार पर प्रदेश को पुरस्कृत किया गया था।


इस अवसर पर विधान सभा अध्यक्ष माता प्रसाद पाण्डेय, राज्य मंत्री व्यावसायिक शिक्षा एवं कौशल विकास अभिषेक मिश्रा, सचिव व्यावसायिक शिक्षा भुवनेश कुमार और कौशल विकास मिशन के निदेशक सुरेन्द्र सिंह भी उपस्थित थे।

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top