Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

#Varanasistampede: इन 5 तस्वीरों में देखिए 24 मौतों का दर्दनाक हादसा

 Abhishek Tripathi |  2016-10-16 03:59:42.0

varanasi_stampedeतहलका न्यूज ब्यूरो
वाराणसी. यूपी के वाराणसी में जय गुरुदेव के समागम में भगदड़ मचने से 24 लोगों की मौत हो गई जबकि दर्जनों लोगों के घायल होने की खबर है। प्रशासन ने घटना की पुष्टि कर दी है तो वहीं यूपी के सीएम अखिलेश यादव ने मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख रुपए और घायलों को 50-50 हजार रुपए मुआवजा देने का ऐलान किया है। पीएम मोदी ने प्रधानमंत्री राहत कोष से मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख और गंभीर रुप से घायलों को 50-50 हजार रुपए मुआवजा देने का ऐलान किया है।

varanasi_stampede1


खबरों के मुताबिक, ये हादसा वाराणसी के राजघाट पुल पर हुआ। ये लोग जय गुरुदेव के समागम में शामिल होने के लिए आए थे। वहां के जिलाधिकारी कुमार प्रशांत ने भी राजघाट पुल पर मची भगदड़ में श्रद्धालुओं के मौत की पुष्टि की है।


varanasi_stampede2


सीएम अखिलेश यादव ने क्या कहा?
सीएम अखिलेश यादव ने वाराणसी में हुए इस दर्दनाक हादसे को लेकर कहा कि इस हादसे की कमिश्नर स्तर की जांच होगी और जांच रिपोर्ट आने पर दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी।

varanasi_stampede3


गृहमंत्री ने क्या कहा?
गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट कर बताया कि मैंने वाराणसी के कमिश्नर से बात की है और उन्होंने मुझे वहां के हालात के बारे में बताया। मैंने हादसे में पीड़ित लोगों को हर संभव मदद पहुंचाने को कहा है।

varanasi_stampede5


जयगुरुदेव की दौलत को लेकर है विवाद
2002 में जब जयगुरुदेव का निधन हुआ तो उनका उत्तराधिकारी बनने के लिए टकराव हो गया। इस टकराव की वजह थी जयगुरुदेव के ट्रस्ट की अकूत दौलत जो करीब 10 हजार करोड़ रुपए बताई गई। उत्तराधिकारी बनने के लिए तीन लोग सामने आए जिनमें उमाकांत तिवारी पकंजयादव और रामवृक्ष यादव। हांलाकि पकंज यादव ने जयगुरुदेव की अर्थी को मुखाग्नि दी थी। इसलिए पकंज यादव को ही उत्तराधिकारी बना दिया गया। उमाकांत तिवारी और रामवृक्ष ने इसका विरोध किया था।

varanasi_stampede4

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top