Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

#गांधी जयंती : जानिए सोशल मीडिया पर छाई गांधीजी की तस्वीरों का सच

 Vikas Tiwari |  2016-10-01 18:33:21.0

गांधी जयंती

तहलका न्यूज़ ब्यूरो 

नई दिल्ली. सोशल मीडिया और तकनीक के समय में हमारे सामने कई बार झूठ को इस तरह से पेश किया जाता है कि सच और झूठ में फर्क करना मुस्किल है. आज गांधी जयंती के दिन हम आप को महात्मा गांधी के जीवन की कुछ ऐसी तस्वीरें दिखा रहें है और उनकी सच्चाई भी बता रहें है. जिन्हें सोशल मीडिया पर गलत तर्कों से प्रस्तुत किया गया है.

गांधी जयंती

इस फोटो को दिखा कर गांधी जी के इस महिला के साथ सम्बन्ध बताया जाता है. लेकिन सच ये है कि  बाईं ओर की तस्वीर नकली है.  दरअसल, यह 6 जुलाई, 1946 में मुंबई में आयोजित ऑल इंडिया कांग्रेस की मीटिंग में गांधीजी और नेहरू की फोटो थी, जिसे फोटोशॉप की मदद से नकली रूप दे दिया गया.

गांधी जयंती

इस फोटो को सोशल मीडिया पर महात्मा गांधी जी महिला के साथ नाचते हुए बताया जाता है. इस फोटो को देखकर लोग अक्सर धोखा भी खा जाते हैं.  इस फोटो के साथ यह दिखाने की कोशिश की गई थी कि गांधीजी एक विदेशी महिला के साथ डांस कर रहे हैं.  सत्यता में इस फोटो में दिखाई दे रहा शख्स एक ऑस्ट्रेलियन कलाकार है न कि महात्मा गांधी  यह फोटो सिडनी में आयोजित एक चैरिटी कार्यक्रम के दौरान ली गई थी.   आप अगर ध्यान से इस फोटो को देखें तो पाएंगे कि इसमें दिखाई दे रहा शख्स मस्क्युलर है। जबकि, गांधीजी बहुत दुबले-पतले थे.  दरअसल, इस कलाकार ने पब्लिसिटी के लिए मेकअप ही जानबूझकर ऐसा किया था कि वह महात्मा गांधीजी की तरह दिखाई दे.


महात्मा गांधी

गांधीजी की इस फोटो को भी सोशल मीडिया पर उस समय का बताया जाता है जब गांधीजी को नाथूराम गोडसे ने गोली मारी थी.  सत्यता यह है कि यह 1963 में रिलीज हुई फिल्म ‘नाइन ऑर्स टू रामा’ (Nine Hours to Rama) का शॉट है.  इस फोटो को लेकर भी लोग अक्सर धोखा खा जाते हैं.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top