Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

हमने फर्जी राष्ट्रवाद का शटर डाउन कर दिया, बोले कन्हैया कुमार

 Tahlka News |  2016-09-11 13:19:37.0

हमने फर्जी राष्ट्रवाद का शटर डाउन कर दिया, बोले कन्हैया कुमार

तहलका न्यूज ब्यूरो 

नई दिल्ली. बीते साथ महीनो से विवादों का केंद्र बने जेएनयू छात्रसंघ में आरएसएस के संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् की करारी पराजय के बाद छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार बहुत खुश है. सेंट्रल पैनल की चारों सीटों पर लेफ्ट गठबंधन ने कब्जा जमा लिया है. विवादों के केंद्र में रहे जेएनयू के छात्र नेता कन्हैया कुमार से समाचार पोर्टल आईबीएनखबर से एक खास बातचीत में कन्हैया कुमार ने कहा कि इस जीत के बाद स्पष्ट संदेश गया है कि अगर विपक्ष एकजुट हो जाए तो आरएसएस जैसी संस्था को कहीं भी, कभी भी किसी भी वक्त हराया जा सकता है.


कन्हैया ने कहा कि मैसेज ये भी है कि अगर आप आंदोलन में साथ होते हैं और इसके चुनाव में ले जाते हैं तो आप एक बेहतर रिजल्ट देते हैं. अभी भी सांप्रदायिक, फासीवादी, जातिवादी राजनीति इतनी मजबूत नहीं हुई है और हमारी लोकतांत्रिक परंपरा इतनी कमजोर नहीं है कि आसानी से वो इस देश में फासिज्म को ले आएंगे.

अपने तेवरों के लिए पहचाने जा रहे कन्हैया ने कहा कि अगर हम अपने अहम को पीछे छोड़कर संगठित होते हैं और राजनीतिक हित आगे रखते हैं तो कभी भी हम अपनी राजनीति को जिता सकते हैं. और हमारे खिलाफ, देश के खिलाफ जो राजनीति हो रही है उसे पराजित कर सकते हैं.

आईबीएनखबर के अनुसार जब सवाल किया गया कि आपके और सरकार के बीच में नाराजगी, विरोध पिछले 4-5 महीने के दौरान तेजी से उपजा था, इस मैसेज के बाद उसमें क्या परिवर्तन आएगा? तो जवाब में कन्हैया ने कहा कि सरकार की नाराजगी नहीं बदलेगी, सरकार का हमला और तेज होगा, सरकार के तंत्र नई-नई साजिशों में लग जाएंगे. ये जो हार है जिसे वो अपना अपमान समझते हैं, इस अपमान का बदला लेने के लिए वो पलटवार करेंगे. इसीलिए हम लोगों को और मजबूत होने की जरूरत है. ये जो एकता बनी है इस और मजबूत किए जाने की जरूरत है. अगर ये एकता नहीं बनी रहेगी तो हम लोकतंत्र को बचाए रखने की लड़ाई बेहतर नहीं कर पाएंगे. हिंदुस्तान और संघिस्तान की इस लड़ाई में संघिस्तान कभी भी आगे निकल सकता है. संघिस्तान को हराने के लिए, हिंदुस्तान को आगे ले जाने के लिए तमाम तरह के धर्मनिरपेक्ष, लोकतांत्रिक और वामपंथी प्रगतिशील शक्तियां को एकजुट रहना होगा.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top