Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

सीएम ने कहा- पानी की ट्रेन नहीं टैंकर भेज दीजिए!

 Sabahat Vijeta |  2016-05-05 17:17:50.0


  • मुख्यमंत्री ने केन्द्रीय जल संसाधन मंत्री को पत्र लिखकर बुन्देलखण्ड क्षेत्र में जलाशयों से लोगों तक पहुंचाने के लिए 10 हजार पानी ढोने के टैंकर उपलब्ध कराने का अनुरोध किया

  • बुन्देलखण्ड में मौसम की मार, कम वर्षा और भूगर्भ जल के गिरते स्तर की वजह से पानी का संकट उत्पन्न हुआ, परन्तु अभी भी इस क्षेत्र के जलाशयों में पर्याप्त मात्रा में पानी उपलब्ध: मुख्यमंत्री

  • यदि भविष्य में पानी की ट्रेन की आवश्यकता होगी, तो प्रदेश सरकार समय रहते इसकी मांग करेगी: अखिलेश यादव


akhilesh-2लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने केन्द्रीय जल संसाधन, नदी विकास एवं गंगा संरक्षण मंत्री सुश्री उमा भारती को पत्र लिखकर बुन्देलखण्ड क्षेत्र में जलाशयों से लोगों तक जल पहुंचाने के लिए 10 हजार पानी ढोने के टैंकर उपलब्ध कराने का अनुरोध किया है।


अपने पत्र में मुख्यमंत्री ने कहा कि बुन्देलखण्ड में मौसम की मार, कम वर्षा और भूगर्भ जल के गिरते स्तर की वजह से पानी का संकट उत्पन्न हुआ है, परन्तु अभी भी इस क्षेत्र के जलाशयों में पर्याप्त मात्रा में पानी उपलब्ध है। इन जलाशयों से गांव और आबादी तक पानी पहुंचाने की जरूरत है। इसी क्रम में राज्य सरकार द्वारा विशेष रूप से बुन्देलखण्ड क्षेत्र के लिए पानी ढोने के टैंकरों की व्यवस्था की गई है और नए हैण्डपम्प लगाने के साथ ही पुराने हैण्डपम्पों की आवश्यक रिबोरिंग/मरम्मत भी की जा रही है।


श्री यादव ने यह भी उल्लेख किया कि रेलवे के पानी की ट्रेन की आवश्यकता तभी होती है, जब सम्पूर्ण क्षेत्र में पानी न हो और दूर से पानी लाना पड़ता हो। चूंकि बुन्देलखण्ड के जलाशयों में अभी पर्याप्त मात्रा में पानी उपलब्ध है, इसलिए पानी की ट्रेन से ज्यादा जरूरत टैंकरों की है। इसके दृष्टिगत प्रदेश सरकार द्वारा भारत सरकार से 10 हजार पानी ढोने के टैंकरों की मांग की गई है।


मुख्यमंत्री ने बुन्देलखण्ड क्षेत्र के लोगों को जलापूर्ति के लिए केन्द्र सरकार द्वारा 10 हजार पानी ढोने के टैंकर उपलब्ध कराने की आवश्यकता पर बल देते हुए कहा कि इसके लिए जिम्मेदार अधिकारियों को तत्काल निर्देशित किया जाए। उन्होंने कहा कि यदि भविष्य में पानी की ट्रेन की आवश्यकता होगी, तो प्रदेश सरकार समय रहते इसकी मांग करेगी।

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top