Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

युवा मतदाता 2017 के चुनाव में बनेंगे निर्णायक

 Sabahat Vijeta |  2016-12-24 14:46:41.0

logo


तहलका न्यूज़ ब्यूरो


लखनऊ. उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनज़र चुनाव आयोग अपनी तैयारियों में लगा है. चुनाव आयोग ने पूरे उत्तर प्रदेश में 18 साल की उम्र पूरी करने वाले युवाओं को पहली बार मतदाता बनाने के लिए युद्ध स्तर पर अभियान चलाया. इसके लिए होर्डिंग, टेलिविज़न और रेडियो का सहारा लिया. इस अभियान के ज़रिये 2017 के विधानसभा चुनाव के लिए युवा मतदाताओं की बड़ी संख्या तैयार की है. पूरे उत्तर प्रदेश में कितने नए मतदाता तैयार हुए हैं इसकी गणना का काम चल रहा है.


चुनाव आयोग ने मतदाता सूची का पुनरीक्षण अभियान चलाकर अकेले कानपुर जिले में नये मतदाताओं का जो आंकड़ा पेश किया है उससे पता चलता है कि इस बार युवा वोट बड़ा फेरबदल करेंगे. कानपुर में पुनरीक्षण अभियान के बाद जो सूची तैयार हुई है उसमें कानपुर की पांच विधानसभा सीटों में 18 से 29 साल के वोटरों की संख्या बढ़कर 72 हजार हो गई है. चुनाव आयोग ने 60 दिन तक यहाँ अभियान चलाया था. इस अभियान में एक लाख 13 हजार 287 मतदाताओं की संख्या बढ़ी.


चुनाव आयोग ने 15सितम्बर को यह अभियान शुरू किया था 15नवम्बर 2016 तक पुनरीक्षण अभियान चला. 18 साल या एक जनवरी को 18 साल की उम्र पूरी करने वाले युवाओं को मतदाता बनाने पर चुनाव आयोग का ज्यादा जोर रहा. 15 सितम्बर तक की मतदाता सूची में 18 से 19 साल के 5351 मतदाता थे जो अब बढ़कर 41 हजार 760 हो गये हैं. इसी तरह 15 सितम्बर तक 20 से 29 साल के सात लाख 24 हजार 539 मतदाता थे जो अब बढ़कर सात लाख 60 हजार 589 हो गये हैं.


चुनाव आयोग ने मतदाताओं की संख्या बढ़ाने के लिए मोहल्लों में कैंप लगवाए. प्राइवेट इन्टरनेट कैफे की मदद ली. इस सम्बन्ध में उप जिला निर्वाचन अधिकारी समीर वर्मा ने बताया कि दो महीने में कानपुर की पांचों विधानसभा सीटों में बीएलओ और स्कूल के शिक्षकों को ड्यूटी लगाकर घर-घर नए मतदाताओं की जानकारी कर उन्हें मतदाता सूची में जोड़ा गया.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top