Breaking News
  • Breaking News Will Appear Here

डायबिटीज है तो क्या, काशी में तैयार हुआ स्पेशल गुलाब जामुन, जमकर खाएं

 Anurag Tiwari |  2017-01-18 08:17:25.0

डायबिटीज है तो क्या, काशी में तैयार हुआ स्पेशल गुलाब जामुन, जमकर खाएं

तहलका न्यूज ब्यूरो

वाराणसी. डायबिटीज के मरीजों को काफी परहेज रखना पड़ता है. जो चीजें सबसे ज्यादा पसंद रहती हैं, उन्हें भी छोड़ना पड़ता है. गुलाब जामुन जैसी मिठाई के सभी शौक़ीन हैं, लेकिन अकसर डायबिटीज के मरीजों को उसे देखकर मन मसोस के रह जाना पड़ता है. लेकिन अब यह स्थिति पुरानी बात हुई, डायबिटीज के मरीजों को भी गुलाब जामुन को देखकर मन नहीं मसोसना पड़ेगा.


बीएचयू के एनिमल हसबेंडरी और डेयरी टेक्नोलॉजी के स्टूडेंट्स ने हर्बल गुलाब जामुन तैयार किया है. इस गुलाब जामुन को खाने के बाद डायबिटीज के मरीजों को न तो सुगर लेवल बढ़ने की चिंता करनी होगी और न ही स्वस्थ आदमी को खाने पर डायबिटीज होने का खतरा रहेगा.




इस गुलाब जामुन को तैयार करने वाले स्टूडेंट मानवेन्द्र सिंह का कहना है कि भारत में कोई भी त्योहार या उत्सव मिठाइयों के बिना अधूरा जान पड़ता है. अगर ऐसे में कोई डायबिटीज का रोगी हो तो मिठाइयों से दूरी बनानी पड़ती है. मानवेन्द्र ने बताया कि इसी तथ्य को ध्यान में रखते हुए उन्होंने अपने साथियों के साथ मैंने हर्बल गुलाब जामुन बनाने का योजना तियार की. उन्होंने बताया कि यह गुलाब जामुन डायबिटीज के पेशेंट्स के लिए फायदेमंद साबित होगा.


विभाग के एचओडी प्रो. दिनेश चंद्र राय के मुताबिक़ हर्बल गुलाब जामुन वाकई डायबिटिक और दिल के रोगियों के लिए फायदेमंद साबित होगा. उन्होंने कहा कि अगर इस गुलाब जामुन को बाजार में में लाने के लिए अगर मिठाई बनाने वाली कंपनियां पहल करती हैं तो इससे जनसंख्या के बड़े हिस्से को खासा फायदा होगा. उन्होंने बताया कि इससे पहले इसी डिपार्टमेंट में हर्बल आइसक्रीम पर भी रिसर्च हो चुका है जो काफी सफल रहा और सराहा भी गया.


इस गुलाब जामुन को बनाने के लिए मैदा और खोया के मिक्सचर के बजाय इसमें फाइबर मिलाया जाता है, जो हेल्थी होता है. इसे बनाने के लिए खोये, मैदे और चीनी के अलावा ओट्स (जई का आटा) का मिलाया जाता है. ओट्स में फाइबर होता है. एचओडी दिनेश चन्द्र राय का कहना है कि ओट्स मिलाने से गुलाब जामुन में फाइबर कंटेंट बढ़ जता है और उसकी हाई कैलोरी वैल्यू कम हो जाता है. इससे बॉडी में सुगर लेवल नहीं बढ़ता. हर्बल गुलाब जामुन कई बिमारियों को दूर करने में कारगर साबित होगा.

Tags:    

  Similar Posts

Share it
Share it
Share it
Top